लड़की भगाने के बयान पर शिवसेना भड़की, कहा- 'यही बीजेपी का हिन्दुत्व और संस्कृति है?'

मुंबई में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को चुनौती देते हुए कहा कि वह ‘हिम्मत’ दिखायें और विधायक के खिलाफ कार्रवाई करें.

News18Hindi
Updated: September 7, 2018, 10:07 AM IST
लड़की भगाने के बयान पर शिवसेना भड़की, कहा- 'यही बीजेपी का हिन्दुत्व और संस्कृति है?'
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: September 7, 2018, 10:07 AM IST
महाराष्ट्र से बीजेपी विधायक राम कदम के बयान पर हंगामा मचा हुआ है. बीजेपी विधायक का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है, 'आप (युवा) किसी भी काम के लिए मुझसे मिल सकते हैं.’ कदम इसके आगे कहते हैं कि उन्हें कुछ युवाओं के अनुरोध मिले हैं जिनका प्रस्ताव लड़की ने ठुकरा दिया है.'

वीडियो में भीड़ को संबोधित करते हुए वह कहते हैं, "मैं मदद करूंगा, 100 प्रतिशत. अपने माता-पिता के साथ (मेरे पास) आइए. अगर माता-पिता इस पर रजामंदी देते हैं तब मैं क्या करूंगा? मैं उस लड़की का अपहरण कर लूंगा और उसे (शादी के लिए) आपके हवाले कर दूंगा."

शिवसेना ने 'सामना' में जताया विरोध
इस मामले का शिवेसना लगातार विरोध कर रही है. मुंबई में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को चुनौती देते हुए कहा कि वह 'हिम्मत' दिखाएं और विधायक के खिलाफ कार्रवाई करें. इसी मुद्दे पर शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में  संपादकीय में कहा गया है, 'क्या यह बीजेपी का हिन्दुत्व और संस्कृति है?'

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के पूर्व मंत्री का विवादित बयान- राम कदम की जीभ काटने वाले को दूंगा 5 लाख रुपये

सामना में लिखा गया है, 'रामकदम ने जो किया, वही अगर कांग्रेस के विधायक ने किया होता तो अब तक कोहराम मचा दिया होता.' सामना में लिखा गया है, प्रधानमंत्री मोदी ट्रिपल तलाक के मामले में मुस्लिम महिलाओं को न्याय देने के लिए निकले हैं और यहां महाराष्ट्र में स्त्रियों के बीच बीजेपी के विधायक के कारण डर फैल गया है. स्त्रियों के अधिकारों के लिए बोलने वाली स्मृति ईरानी कहां हैं? मंत्रिमंडल की एक महिला मंत्री पंकजा मुंडे कहां हैं?'

सामना में लिखा गया है, 'अन्य मौकों पर विरोधियों द्वारा जनता और देश के सवाल उठाने पर उन्हें देशद्रोही बताने वाले लोग भी विधायक के बयान पर चुप बैठे हैं.' संपादकीय में लिखा गया है, 'सत्ताधारी दल का मौतव्रत पर है. यह मौन भी अपमानजनक है.'

यह भी पढ़ें: लड़की भगाने का 'ऑफर' देने वाले BJP विधायक को मिला नोटिस
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर