व्यक्तिगत रिश्ते सत्ता से अलग होते हैं, उद्धव ठाकरे और पीएम मोदी की मुलाकात पर शिवसेना ने कहा

पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करते महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करते महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे. (फाइल फोटो)

Shiv Sena Saamana PM Modi Uddhav Thackeray Meeting: उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मंगलवार को मुलाकात की और मराठा आरक्षण, लंबित जीएसटी मुआवजा और कंजुरमार्ग में प्रस्तावित मेट्रो कारशेड जैसे मुद्दों पर चर्चा की.

  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दिल्ली में मुलाकात को लेकर उठ रहे तमाम कयासों को दरकिनार करते हुए शिवसेना ने कहा कि सरकार में साथ नहीं होने का मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि हमारे बीच कोई रिश्ता नहीं रहा. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत रिश्ते हमेशा सत्ता से अलग होते हैं और वही पीएम मोदी और ठाकरे की मुलाकात में भी नजर आता है.


शिवसेना ने अपने साप्ताहिक मुखपत्र 'सामना' के संपादकीय में लिखा है, 'हम सत्ता में भले ही साथ नहीं हैं, लेकिन हमारा रिश्ता बरकरार है. राजनीतिक मतभेद कभी भी व्यक्तिगत रिश्ते के आड़े नहीं आता और ना ही ये कमजोर होते हैं. इस तरह के रिश्ते सत्ता और सरकार से काफी अलग होते हैं और शिवसेना ने इसे हमेशा संभाल कर रखा है.'


गौरतलब है कि उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मंगलवार को दिल्ली में मुलाकात की और मराठा आरक्षण, लंबित जीएसटी मुआवजा और कंजुरमार्ग में प्रस्तावित मेट्रो कारशेड जैसे मुद्दों पर चर्चा की.


उद्धव ठाकरे से पीएम मोदी की मुलाकात में कोई आश्चर्य नहीं
भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री ठाकरे प्रधानमंत्री से अलग से मुलाकात करते हैं तो इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है. महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष फडणवीस ने संवाददाताओं से कहा, 'हालांकि, मुझे नहीं पता कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के बीच अलग से कोई मुलाकात हुई है. यदि हम मान भी लेते हैं कि इस तरह की कोई बैठक हुई भी है तो इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है.' फडणवीस ने कहा कि जब वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे, तो प्रधानमंत्री उनके साथ अलग से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते थे. उन्होंने कहा, 'जब मैं प्रधानमंत्री से एक शिष्टमंडल के साथ मिलता था, तो वह उनके साथ पांच से दस मिनट तक बात करते थे. बाद में प्रधानमंत्री राज्य से संबंधित मुद्दों पर मेरे साथ अलग से 15 से 20 मिनट तक चर्चा करते थे.'


शिवसेना सांसद संजय राउत और एनसीपी ने मुलाकात पर क्या कहा

इस बीच, उद्धव ठाकरे और पीएम मोदी की मुलाकात के बाद राजनीतिक हलचल तेज होने के बीच सत्तारूढ़ शिवसेना और राकांपा ने महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार को किसी खतरे से इनकार करते हुए कहा कि सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. महाराष्ट्र राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि गठबंधन सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उन्होंने कहा कि ठाकरे और मोदी की मुलाकात को लेकर डरने की कोई बात नहीं है क्योंकि शरद पवार समेत कई नेताओं के दूसरे दलों के नेताओं से भी बहुत अच्छे संबंध हैं. महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन में शिवेसना, राकांपा और कांग्रेस शामिल हैं.





इस मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के विभिन्न मुद्दों के संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उप मुख्यमंत्री अजित पवार और कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण की बात सुनी. आने वाले दिनों में कोई निर्णायक फैसला लिया जाएगा.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज