Home /News /nation /

shiv sena worry congress future says party left several issues unresolved at chintan shivir

शिवसेना ने कांग्रेस के भाग्य पर जाहिर की गहरी चिंता, कहा- पार्टी की हालत बादल फटने जैसी है

शिवसेना ने कहा कि कांग्रेस ने चिंतन शिविर में नेतृत्व के मुद्दे का समाधान नहीं किया. (फाइल फोटो)

शिवसेना ने कहा कि कांग्रेस ने चिंतन शिविर में नेतृत्व के मुद्दे का समाधान नहीं किया. (फाइल फोटो)

Shiv Sena Congress News: शिवसेना ने कहा कि सुनील जाखड़, हार्दिक पटेल, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद द्वारा कांग्रेस छोड़ने का निर्णय पार्टी नेतृत्व की विफलता को दिखाता है.

मुंबई. शिवसेना ने शनिवार को कहा कि हाल में हुए ‘चिंतन शिविर’ में कांग्रेस ने अपने नेतृत्व के मुद्दे का समाधान नहीं किया और पार्टी की वर्तमान स्थिति दयनीय है, जो लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित संपादकीय में कहा गया है कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही है, तो दूसरी ओर कांग्रेस की स्थिति बेहद चिंताजनक है. संपादकीय में कहा गया है, “उदयपुर में पार्टी के सम्मेलन में राहुल गांधी ने बहुत से मुद्दों का समाधान नहीं किया. इसलिए विभिन्न राज्यों के कई नेता पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. कांग्रेस की बिहार और उत्तर प्रदेश इकाई में प्रदेश अध्यक्ष तक नहीं हैं.”

शिवसेना ने कहा कि सुनील जाखड़, हार्दिक पटेल, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद द्वारा कांग्रेस छोड़ने का निर्णय पार्टी नेतृत्व की विफलता को दिखाता है. मुखपत्र में कहा गया है कि कांग्रेस को उन राज्यों में अपने जनाधार वाले नेताओं के साथ खड़े रहना चाहिए, जहां चुनाव होने वाले हैं. हालांकि, सामना के संपादकीय पर कांग्रेस का रवैया नाराजगी भरा रहा. कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा, “कांग्रेस एक विचार है और कई लोग आए और गए. कौन कांग्रेस छोड़ रहा है और कौन शामिल हो रहा है, इस पर विचार करने की बजाय लोगों को देश के ज्वलंत मुद्दों के बारे में सोचना चाहिए.” मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप ने कहा कि पार्टी को किसी की सलाह की आवश्यकता नहीं है.

शिवसेना ने कांग्रेस के भाग्य पर जाहिर की गहरी चिंता
शिवसेना ने कांग्रेस की कड़ी आलोचना करते हुए उसके भाग्य पर गहरी चिंता व्यक्त की और कहा कि कांग्रेस बुरी तरह से ‘लीक’ हो रही है और इतने सारे नेता पार्टी छोड़ रहे हैं. शिवसेना ने कहा, “कांग्रेस की हालत बादल फटने जैसी है. समस्या यह है कि पैच कहां लगाएं और सील करें. लीक राजस्थान में पार्टी के हालिया चिंतन शिविर के समापन के दिन शुरू हुआ.” महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी (एमवीए) में शामिल कांग्रेस के प्रति शिवसेना ने एक महत्वपूर्ण दिन चिंता प्रकट की, जब भव्य पुरानी पार्टी दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि मना रही थी.

सुनील जाखड़ को लेकर शिवसेना ने कही ये बात
शिवसेना ने कहा कि पंजाब के दिग्गज कांग्रेसी नेता दिवंगत बलराम जाखड़ के बेटे सुनील जाखड़ ने सालों तक पंजाब कांग्रेस का नेतृत्व किया, लेकिन हाल ही में उन्हें दरकिनार कर दिया गया और नवजोत सिंह सिद्धू को अनावश्यक महत्व दिया गया. भारतीय जनता पार्टी के लिए कांग्रेस छोड़ने से पहले, आहत सुनील जाखड़ ने कहा, “मैं केवल पंजाब और राष्ट्र के हित में बोल रहा था. कांग्रेस ने मेरी आवाज दबाने की कोशिश की और मुझे नोटिस दिया. उन्होंने क्या हासिल किया?”

शिवसेना ने कहा, “कांग्रेस ने जाखड़, माधवराव सिंधिया और जितेंद्र प्रसाद जैसे नेताओं का पालन-पोषण किया और यहां तक कि उनके बच्चों सुनील, ज्योतिरादित्य और जितिन के लिए भी बहुत कुछ किया, लेकिन उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षाएं उनके पिता से बड़ी थीं और कांग्रेस तुलना में बहुत छोटी साबित हुईं. कांग्रेस को हालांकि संकट में उनकी जरूरत थी.”

‘देश के युवा कांग्रेस में अपना भविष्य नहीं देख रहे’
पार्टी ने आशंका व्यक्त की है कि “देश के युवा कांग्रेस में अपना भविष्य नहीं देख रहे हैं, खासकर जब उसके पास कुछ समय से पूर्णकालिक अध्यक्ष भी नहीं है. यही हाल उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में है.” हालांकि चिंतन शिविर में कुछ सकारात्मक निर्णय लिए गए, लेकिन कांग्रेस नेतृत्व का मुद्दा अंधेरे में रहा, जैसा कि शिवसेना ने संपादकीय में कहा है. जिन राज्यों में चुनाव होने हैं, वहां अच्छी सार्वजनिक छवि वाले नेताओं के साथ कांग्रेस को अच्छा व्यवहार करना चाहिए था.

(इनपुट भाषा से भी)

Tags: BJP, Congress, Shiv sena

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर