लाइव टीवी

पूजा अनुष्ठान के दौरान श्रद्धालुओं को 'पीटे जाने' पर मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

भाषा
Updated: November 24, 2019, 5:41 PM IST
पूजा अनुष्ठान के दौरान श्रद्धालुओं को 'पीटे जाने' पर मानवाधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट
मंदिर प्रबंधन का कहना है कि श्रद्धालुओं को पीटना अनुष्ठान का हिस्सा है

यह घटना कान्हागढ़ में अरयिल देवी मंदिर में दो नवंबर को हुई. एक वीडियो में ‘तेय्यम’ के दौरान श्रद्धालुओं को पीटते हुए दिखाया गया है.

  • Share this:
कासरगोड (केरल). राज्य मानवाधिकार आयोग (States Human Rights Commission) ने ‘तेय्यम’ पूजा अनुष्ठान के दौरान श्रद्धालुओं को ‘पीटे जाने’ के संबंध में स्वत: संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज किया है.

एसएचआरसी सदस्य के. मोहनदास ने रविवार को पीटीआई से कहा कि उन्होंने कलेक्टर और जिला पुलिस प्रमुख से इस मामले में 30 दिन में रिपोर्ट देने को कहा है. उन्होंने कहा, ‘‘आयोग ने मीडिया में आई खबरों और वीडियो के वायरल होने के बाद मामले पर स्वत: संज्ञान लिया है. हालांकि किसी ने शिकायत नहीं की, लेकिन इस अनुष्ठान के दौरान कई लोग घायल हुए और कई लोगों के हाथ टूट गए.’’

ऐसा होता है अनुष्ठान
इस अनुष्ठान के तहत ऐसा माना जाता है कि एक व्यक्ति पर भगवान का वास हो गया है और वह श्रद्धालुओं को पीटता है. कोई इसकी शिकायत नहीं करता है. यह घटना कान्हागढ़ में अरयिल देवी मंदिर में दो नवंबर को हुई. एक वीडियो में ‘तेय्यम’ के दौरान श्रद्धालुओं को पीटते हुए दिखाया गया है.

लोग नहीं करते शिकायत
मंदिर संबंधी मामलों का प्रबंधन करने वाली ‘पतिनल नगरम् क्षेत्र संरक्षण समिति’ ने पीटीआई से कहा कि श्रद्धालुओं को पीटना अनुष्ठान का हिस्सा है. उन्होंने कहा, ‘‘यह एक अनुष्ठान है कि ‘तेय्यम’ मंदिर में घूमता है और लोगों को पीटता है. इसे आशीर्वाद समझा जाता है, लेकिन इन दिनों कुछ युवा प्रस्तोता को उकसाने की कोशिश करते हैं. ऐसा माना जाता है कि प्रस्तोता में भगवान का वास होते हैं.’’ उन्होंने कहा कि लोग इसके खिलाफ कभी शिकायत नहीं करेंगे.

ये भी पढ़ें-
Loading...

प्रोफेसर बोले, 'भारतीय खाना है बेहद खराब' फिर ट्विटर पर आ गई इसके खिलाफ बाढ़

आंध्र के मंत्री ने बेरोजगारों से कहा- कुत्ते भी जताते हैं आभार, लेकिन आप...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 5:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...