Home /News /nation /

siddaramaiah on karnataka assembly elections 2023 congress and jds do not have political relations

कर्नाटकः सिद्धारमैया का JDS के साथ तालमेल से इनकार, दलित CM पर कही ये बात

राष्ट्रीय राजनीति में नहीं जाना चाहते हैं सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय राजनीति में नहीं जाना चाहते हैं सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया ने आगामी राज्यसभा चुनाव या 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और जनता दल (एस) के बीच राजनीतिक संबंध से इनकार किया है.

बेंगलुरु. कर्नाटक से राज्यसभा की 4 सीटों के लिए 10 जून को मतदान होंगे. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निर्मला सीतारमण, केसी राममूर्ति और कांग्रेस के जयराम रमेश का कार्यकाल 30 जून को समाप्त होने वाला है. वहीं चौथी सीट से कांग्रेस के दिवंगत नेता ऑस्कर फर्नांडीस सदस्य थे. राज्यसभा चुनाव जीतने के लिए एक उम्मीदवार को 45 वोट चाहिए. कर्नाटक विधानसभा में पार्टियों की मौजूदा स्थिति के आधार पर भाजपा 2 सीटें जीत सकती हैं, जबकि कांग्रेस को 1 सीट हासिल हो सकती है. वहीं ऐसी खबरे हैं कि जनता दल (एस) या जेडीएस एक सीट पर कब्जा जमा सकती है. आंकड़ों के खेल ने चौथी सीट की लड़ाई को दिलचस्प बना दिया है. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस एक बार फिर जयराम रमेश को राज्यसभा के चुनावी मैदान में उतार सकती है.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यदि भाजपा या कांग्रेस चौथी सीट जीतना चाहती हैं तो उन्हें जनता दल (एस) के समर्थन की जरूरत होगी. लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने आगामी राज्यसभा चुनाव या 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में जेडीएस के साथ किसी भी राजनीतिक संबंध से इनकार किया है. सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि वह राष्ट्रीय राजनीति में नहीं जाएंगे. हालांकि सिद्धारमैया ने पहले कहा था कि साल 2023 का विधानसभा चुनाव उनका आखिरी चुनाव होगा, लेकिन वह राज्य की राजनीति में बने रहेंगे.

दलित CM की मांग पर क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री
कांग्रेस पार्टी के अंदर कुछ लोग दलित सीएम की मांग उठा रहे हैं. अगर 2023 के चुनाव में कांग्रेस जीत दर्ज करती है तो क्या वह इस मांग पर विचार कर सकती है? इस सवाल पर सिद्धारमैया ने कहा कि सीएम पद के उम्मीदवार को मजबूर नहीं किया जा सकता है. अगर पार्टी सत्ता में आती है तो वह अपने नव निर्वाचित विधायकों की साझा राय से अपना नेता चुनेगी और अंतिम फैसला आलाकमान का होगा.

‘किसी को जबरदस्ती CM नहीं बनाया जा सकता’
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘दलितों को भी मुख्यमंत्री बनना चाहिए, दूसरे लोगों को भी बनना चाहिए, लोकतांत्रिक व्यवस्था में दलित, मुस्लिम, ईसाई सहित हर कोई मुख्यमंत्री बनने में सक्षम है, मगर सीएम उम्मीदवार जबरदस्ती नहीं बनाया जा सकता.’

Tags: Karnataka, Rajya Sabha Elections

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर