’जय श्री राम’ का नारा लगाने से मना करने पर मुस्लिम ऑटोरिक्शा चालक की पिटाई

’जय श्री राम’ का नारा लगाने से मना करने पर मुस्लिम ऑटोरिक्शा चालक की पिटाई
पुलिस के मुताबिक, दोनों आरोपियों को गफ्फार अहमद कछवा की ओर से एक FIR दर्ज कराने के बाद गिरफ्तार किया गया है (फोटो- Twitter)

कछवा ने अपनी FIR में कहा है, "पुरुषों ने मेरी दाढ़ी खींची, मुझे लात मारी और मुक्का मारा, जिससे मेरे 2-3 दांत टूट गए... मेरी बाईं आंख, गाल और सिर पर गंभीर चोटें आईं क्योंकि उन्होंने मुझे पर डंडे (stick) से हमला किया. मुझे पीटने के बाद, उन्होंने कहा कि हम तुम्हें पाकिस्तान (Pakistan) भेजने के बाद ही दम लेंगे."

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 6:30 PM IST
  • Share this:
सीकर. राजस्थान (Rajasthan) के सीकर जिले (Sikar District) की पुलिस ने शुक्रवार को 52 साल के ऑटोरिक्शा चालक (autorickshaw driver) के साथ कथित तौर पर मारपीट करने (allegedly assaulting) के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि इन लोगों ने रिक्शाचालक की पिटाई इसलिए कर दी थी क्योंकि उसने "मोदी जिंदाबाद" और "जय श्री राम" के नारे लगाने से इनकार (refused to chant) कर दिया था. पुलिस के मुताबिक, दोनों आरोपियों को गफ्फार अहमद कछवा की ओर से एक FIR दर्ज कराने के बाद गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने यह दावा भी किया कि दोनों ने उनकी कलाई घड़ी (wristwatch) और पैसे भी छीन लिये थे. इस पिटाई  के दौरान कछवा का एक दांत टूट गया था, एक आंख सूज गई थी और गाल पर चोट के निशान (bruises on cheek) आये थे.

कच्छवा के भतीजे (nephew) शाहिद ने बताया, “शुक्रवार सुबह लगभग 4 बजे, मेरे चाचा यात्रियों (passengers) को पास के गांव में छोड़ने के बाद लौट रहे थे, जब एक कार में सवार दो लोगों ने उन्हें रोका और तंबाकू मांगी. हालांकि, उन्होंने मेरे चाचा की ओर से दी जा रही तंबाकू (tobacco) लेने से मना कर दिया और उनसे 'मोदी जिंदाबाद' कहने के लिए कहा.”

ऑटो से भागे कछवा तो गाड़ी से पीछाकर रोका और किया हमला
पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर में, कछवा ने कहा कि लोगों ने उसे थप्पड़ मारा जब उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया.
कछवा ने अपनी शिकायत में कहा, "उन पुरुषों में से एक ने मुझसे 'मोदी जिंदाबाद' का नारा लगाने को कहा और मैंने मना कर दिया... फिर उसने मुझे जोरदार थप्पड़ मारा. मैंने अपनी टैक्सी लेकर सीकर की ओर भागने की कोशिश की. लेकिन उन्होंने अपनी कार से मेरा पीछा किया और जगमालपुरा के पास मेरी गाड़ी रोक ली. कछवा ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्होंने मुझे गाड़ी से उतरने के लिए मजबूर किया और उन्होंने मुझे बुरी तरह से पीटा... पुरुषों ने गालियां दीं और मुझे 'मोदी जिंदाबाद' और 'जय श्री राम' बोलने के लिए मजबूर किया.



कछवा का आरोप- हमलावरों ने घड़ी और 700 रुपये भी छीने
कछवा ने उन दोनों लोगों पर अपनी कलाई घड़ी सहित 700 रुपये छीनने का आरोप भी लगाया है.

यह भी पढ़ें: कैप्टन दीपक साठे के साथ 1990 में भी हुआ था ऐसा हादसा, बाल-बाल बची थी जान

कछवा ने अपनी FIR में कहा है, "पुरुषों ने मेरी दाढ़ी खींची, मुझे लात मारी और मुक्का मारा, जिससे मेरे 2-3 दांत टूट गए... मेरी बाईं आंख, गाल और सिर पर गंभीर चोटें आईं क्योंकि उन्होंने मुझे पर डंडे से हमला किया. मुझे पीटने के बाद, उन्होंने कहा कि हम तुम्हें पाकिस्तान भेजने के बाद ही दम लेंगे."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज