लाइव टीवी

दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बता दिया अलग देश! मुख्यमंत्री बोले- भूल सुधारें

News18Hindi
Updated: May 23, 2020, 9:42 PM IST
दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बता दिया अलग देश! मुख्यमंत्री बोले- भूल सुधारें
सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट कर दिल्ली सरकार के विज्ञापन पर आपत्ति जताई

सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग (Sikkim's CM Prem Singh Tamang) ने ट्वीट कर भर्ती में शामिल पात्रता को लेकर दिल्ली सरकार (Delhi Government) से भूल सुधारने के लिए कहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) की अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की सरकार ने सिविल डिफेंस कोर (Civil Defence Core) में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती निकाली हैं. इस भर्ती में शामिल पात्रता को लेकर सिक्किम (Sikkim) के मुख्यमंत्री ने सवाल उठाए हैं. सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग (Prem Singh Tamang) ने ट्वीट कर इसके लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) से भूल सुधारने के लिए कहा है.

दरअसल दिल्ली सरकार ने इस भर्ती के कॉलम में लिखा है कि आवेदनकर्ता भारत का नागरिक हो या फिर भूटान (Bhutan), नेपाल (Nepal) या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो.

इसे लेकर प्रेम सिंह तमांग ने ट्वीट किया है कि- दिल्ली सरकार द्वारा विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित इस विज्ञापन में सिक्किम के साथ-साथ भूटान और नेपाल जैसे देशों का उल्लेख है. सिक्किम 1975 से भारत का हिस्सा रहा है और एक सप्ताह पहले ही इसका राज्य दिवस मनाया गया है.



तमांग ने एक अन्य ट्वीट में इस विज्ञापन की तस्वीर साझा करते हुए लिखा है कि- सिक्किम भारत का एक हिस्सा है और यह कहा नहीं जाना चाहिए कि यह निंदनीय है और मैं दिल्ली सरकार से इस मुद्दे को सुधारने का अनुरोध करूंगा.



बता दें दिल्ली सरकार ने सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक की भर्तियां निकाली हैं. इसकी पात्रता कुछ इस तरह से है-

1.भारत का नागरिक हो या फिर भूटान नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो.

2. 18 वर्ष की आयु हो

3. कम से कम प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की हो.

4. कोई भी पुरुष या महिला जो शारीरिक रूप से स्वस्थ हो तथा मानसिक रूप से सचेत हो.

इसके लिए आवश्यक दस्तावेज आधार कार्ड, पेन कार्ड, बैंक खाता, पुलिस सत्यापन, नियोक्ता ने अनापत्ति प्रमाण पत्र और शिक्षा, निवास और आयु प्रमाण पत्र मांगे गए हैं.

ये भी पढ़ें-
चीन से LAC पर तनाव के बीच भारत की नज़रें श्रीलंका-मॉरीशस से अच्छे संबंधों पर

10 दिनों में 2600 श्रमिक ट्रेनें चलाकर 36 लाख प्रवासियों को घर पहुंचाएगा रेलवे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2020, 8:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading