अपना शहर चुनें

States

किसानों का समर्थन करने सिंघु बॉर्डर पहुंचे दिलजीत दोसांझ, बोले- आने वाली पीढ़ियों को सुनाया जाएगा ये इतिहास

सिंधू बॉर्डर पर दिलजीत दोसांझ ने किसानों को संबोधित किया. (फोटो साभारः ANI)
सिंधू बॉर्डर पर दिलजीत दोसांझ ने किसानों को संबोधित किया. (फोटो साभारः ANI)

Diljit singh dosanjh at singhu border: किसानों को संबोधित करते हुए दिलजीत दोसांझ ने कहा, आप सभी को सलाम, किसानों ने एक नया इतिहास रचा है. यह इतिहास आने वाली पीढ़ियों को सुनाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 7:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि कानूनों (Farm Law 2020) के खिलाफ किसानों का विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी है. सरकार और किसान नेताओं (Famer Leaders) के बीच दिल्ली के विज्ञान भवन में पांचवें दौर की बातचीत चल रही है. इसी बीच पंजाबी सिंगर और एक्टर दिलजीत सिंह दोसांझ (Diljit singh dosanjh) शनिवार को सिंघु बॉर्डर (हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर) (Singhu border) पर प्रदर्शन कर रहे किसानों (Farmer Protest) से मिलने के लिए पहुंचे.

किसानों से मुलाकात के बाद दिलजीत दोसांझ ने उन्हें संबोधित किया. उन्होंने कहा, 'हमारा केंद्र से सिर्फ एक अनुरोध है कि कृपया किसानों की मांगों को पूरा करें. यहां सभी लोग शांति से बैठे हैं और पूरा देश किसानों के साथ है.' दोसांझ ने कहा, आप सभी को सलाम, किसानों ने एक नया इतिहास रचा है. यह इतिहास आने वाली पीढ़ियों को सुनाया जाएगा. किसानों के मुद्दों को किसी के द्वारा भी मोड़ना नहीं चाहिए.


सरकार के सामने अपनी मांगों पर अड़े किसान
सरकार के साथ जारी बैठक में किसानों ने कहा, हम कॉरपोरेट फार्मिंग नहीं चाहते. इस कानून से सरकार को फायदा होगा, किसानों को नहीं. हम पिछले कई दिनों से सड़कों पर हैं. हमारे पास एक साल की व्यवस्था है. अगर सरकार यही चाहती है तो हमें कोई दिक्कत नहीं. हम हिंसा का रास्ता भी नहीं अपनाएंगे. इंटेलीजेंस ब्यूरो आपको बता देगी कि हम धरनास्थल पर क्या कर रहे हैं.



साथ ही कहा कि अब और बातचीत नहीं चाहते, सरकार समाधान निकाले. लंच ब्रेक में किसानों ने आज भी सरकारी खाना नहीं, बल्कि अपना लाया हुआ खाना ही खाया. वे पानी तक साथ लाए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज