Home /News /nation /

Singhu Border Murder: सिंघु बार्डर पर मारे गए शख्स के गांववाले बोले- उसे बहकाया गया होगा

Singhu Border Murder: सिंघु बार्डर पर मारे गए शख्स के गांववाले बोले- उसे बहकाया गया होगा

सिंघु बार्डर पर एक व्यक्ति को बांधकर पहले मारा-पीटा गया, फिर उसे मौत के घाट उतार दिया गया. (फाइल फोटो)

सिंघु बार्डर पर एक व्यक्ति को बांधकर पहले मारा-पीटा गया, फिर उसे मौत के घाट उतार दिया गया. (फाइल फोटो)

Singhu Border Murder: किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के दौरान शनिवार की सुबह सिंघु बार्डर (Singhu Border) पर एक व्यक्ति को बांधकर पहले मारा-पीटा गया, फिर उसे मौत के घाट उतार दिया गया. गांव के लोगों का कहना है क‍ि वह नशे का आदी था और उसे बहला फुसलाकर लाया गया था.

अधिक पढ़ें ...

    तरनतारन. कृषि कानून (Agricultural Law) के विरोध में दिल्ली (Delhi) में चल रहे किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के दौरान शनिवार की सुबह सिंघु बार्डर (Singhu Border) पर एक व्यक्ति को बांधकर पहले मारा-पीटा गया, फिर उसे मौत के घाट उतार दिया गया. मृतक युवक का हाथ और टांग काटकर बॉर्डर पर ही लटका दिया गया. मृतक युवक की पहचान तरनतारन के गांव चीमा कलां निवासी लखबीर सिंह उर्फ टीटू के रूप में हुई है. अपुष्ट खबरों के मुताबिक सिखों के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब को कथित रूप से अपवित्र करने के लिए लखबीर सिंह को पीट-पीटकर मार डाला गया. हालांकि लखबीर सिंह के जानकार इस घटना से इनकार कर रहे हैं. गांव के लोगों का कहना है क‍ि वह नशे का आदी था और उसे बहला फुसलाकर लाया गया था.

    तरनतारन जिले के गांव के एक सेवानिवृत्त सैन्यकर्मी हरभजन सिंह ने बताया कि लखबीर सिंह एक नशेड़ी था और उन्‍हें यकीन है कि उसे सिंघू सीमा पर ले जाया गया होगा. उन्‍होंने बताया कि लखबीर सिंह 4-5 दिन पहले गांव में था और उसकी भीषण हत्या का वीडियो देखकर हर कोई हैरान है. उन्होंने कहा, वह बेरोजगार था और अपने परिवार का भरण-पोषण नहीं करता था. उसके पिता की पहले ही मौत हो चुकी है.

    गांव के कई अन्य निवासियों ने दोहराया कि लखबीर सिंह को नशे की लत थी और कुछ दिन पहले तक वह गांव में ही मौजूद था. एक अन्य निवासी ने कहा, वह अपने परिवार के साथ रहता था, लेकिन उसकी पत्नी अलग रहती थी. गांव के एक अन्य निवासी मासा सिंह का कहना है कि लखबीर सिंह के ऊपर जो आरोप लगाए गए हैं वह पूरी तरह से गलत हैं. वह ऐसा नहीं कर सकता था. वह इस तरह का व्यक्ति नहीं था. उसे ऐसा करने के लिए उकसाया गया होगा.

    जानकारी के मुताबिक लखबीर सिंह की तीन बेटियां हैं. लखबीर के पिता दर्शन सिंह और मां की कुछ सालों पहले ही मौत हो गई थी. वह अपनी बुआ राजबीर कौर राज के साथ रहा करता था. नशे की लत के कारण उसकी पत्नी चार साल पहले ही उसे छोड़कर मायके चली गई थी. अब सवाल उठ रहा है कि आखिर लखबीर दिल्ली के सिंघू बार्डर पर किसानों के धरने में कैसे पहुंच गया. दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है फिलहाल, मामले की जांच की जा रही है.

    Tags: Agricultural Law, Kisan Andolan, Singhu Border

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर