लाइव टीवी

CDS बिपिन रावत के बयान पर भड़के येचुरी, कहा- 'मोदी सरकार साफ करे, ऐसे कैंप मौजूद हैं या नहीं'

News18Hindi
Updated: January 19, 2020, 11:25 PM IST
CDS बिपिन रावत के बयान पर भड़के येचुरी, कहा- 'मोदी सरकार साफ करे, ऐसे कैंप मौजूद हैं या नहीं'
येचुरी ने कहा- 'सरकार साफ करे, ऐसे कैंप मौजूद या नहीं' (फोटो- ANI)

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने कहा था कि विशेषकर कश्मीर (Kashmir) में बच्चों सहित मुस्लिम युवाओं (Muslim Youth) को गैरकट्टर बनाने के लिए प्रयास करने की जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 11:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीपीआईएम (CPI-M) के सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) ने कहा है हमारी केंद्रीय समिति ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) के दिए गए अपमानजनक बयान पर चर्चा की है.

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने कहा था कि विशेषकर कश्मीर (Kashmir) में बच्चों सहित मुस्लिम युवाओं (Muslim Youth) को गैरकट्टर बनाने के लिए प्रयास करने की जरूरत है. आश्चर्यजनक रूप से ऐसे कैंप मौजूद भी हैं.

'मोदी सरकार साफ करे कि ऐसे कैंप मौजूद हैं या नहीं'
हमने मोदी सरकार (Modi Government) को सामने आकर यह साफ करने को कहते हैं कि देश में ऐसे कैंप मौजूद हैं या नहीं. अगर ऐसे कैंप हैं तो क्या सेना उन्हें चला रही है? यह एक ऐसा तरीका है, जिसे पूरी दुनिया में अल्पसंख्यकों (Minorities) के खिलाफ इस्तेमाल किया जाता है.



क्या कहा था बिपिन रावत ने?
बता दें कि जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाए जाने को लेकर चिंता जताई थी. दिल्ली में आयोजित रायसीना डायलॉग 2020 में उन्होंने कहा था कि कट्टरपंथ के स्रोत पर कार्रवाई करने की ज़रूरत है. खासकर ऐसे में जबकि 10-12 साल के बच्चों को भी चरमपंथी बनाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा, 'कट्टरपंथ का मुकाबला किया जा सकता है. हमने कश्मीर (Kashmir) में ये देखा है. हम देख रहे हैं कि छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाया जा रहा है. उन्हें पहचानने की जरूरत है. उन्हें ऐसे सेंटर में डालने की जरूरत है जहां वो इस रास्ते से वापस आ सकें. भारतीय सेना (Indian Army) कड़े कदम नहीं उठा रही है. पेलेट गन का इस्तेमाल एक गैर-घातक अभ्यास है. इसे संयम से इस्तेमाल किया जाता है.'

वहीं देश भर में सीएए को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन के बीच सीपीआईएम ने घोषणा की है कि वह नागरिकता कानून के खिलाफ देश भर में घर-घर जाकर अभियान चलाएगी.

यह भी पढ़ें: 5 सालों में करीब 2200 CAPF जवानों की मौत, NCRB ने जारी किए चौंकाने वाले आंकड़े

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 10:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर