थाईलैंड और सिंगापुर के साथ भारतीय नौसेना दो दिवसीय युद्धाभ्यास सिटमैक्स 2020 में ले रही हिस्सा

सिंगापुर और थाईलैंड की नौसेना के साथ अंडमान सागर में भारतीय नौसेना ने युद्धाभ्यास शुरू किया है. फाइल फोटो
सिंगापुर और थाईलैंड की नौसेना के साथ अंडमान सागर में भारतीय नौसेना ने युद्धाभ्यास शुरू किया है. फाइल फोटो

उन्होंने बताया कि यह अभ्यास कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बिना किसी संपर्क के, सिर्फ सागर में आयोजित किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2020, 4:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय नौसेना सिंगापुर (Singapore Navy) और थाईलैंड की नौसेनाओं के साथ अंडमान सागर (Andaman Sea) में दो दिवसीय त्रिपक्षीय सिटमैक्स 2020 में हिस्सा ले रही है. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि भारतीय नौसेना के स्वदेश निर्मित पनडुब्बी रोधी कोर्वेट (छोटा युद्धपोत) ‘कामोरता’ और मिसाइल कोर्वेट ‘करमुख’ पोत त्रिपक्षीय युद्धाभ्यास के दूसरे संस्करण में भाग ले रहे हैं. यह अभ्यास रविवार से शुरू होकर और सोमवार तक चलेगा.

अधिकारियों ने बताया कि दो दिन के समुद्री अभ्यास के दौरान तीनों नौसेनाएं कई तरह के युद्धाभ्यास करेंगी, जिनमें हथियारों से गोलियां चलाना और सतह युद्ध अभ्यास शामिल है. उन्होंने बताया कि सिटमैक्स श्रृंखला का यह अभ्यास भारतीय नौसेना, रिपब्लिक ऑफ सिंगापुर नेवी (आरएसएन) और रॉयल थाई नेवी (आरटीएन) के बीच पारस्परिक श्रेष्ठ सहयोग और अंतर संचालन क्षमता के विकास के लिए आयोजित किया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि अभ्यास में आरएसएन की ओर से उसके ‘दुर्जेय’ श्रेणी के फ्रिगेट ‘इंटरपिड’ और ‘एन्ड्योलरेन्सू’ श्रेणी के टैंक लैंडिंग शिप ‘एन्डेवर’ और आरटीएन की ओर से चाओ फ्राया श्रेणी का फ्रिगेट ‘काराबुरी’ भाग ले रहे हैं.



पढ़ेंः समुद्र में 4 देशों की सेना ने चीन को दिखाया दम, एक साथ गरजे भारत-US के लड़ाकू विमान
उन्होंने बताया कि यह अभ्यास कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बिना किसी संपर्क के, सिर्फ सागर में आयोजित किया जा रहा है. अधिकारियों ने बताया कि इसका लक्ष्य तीनों मित्र देशों में समन्वय, सहयोग और साझेदारी का विकास करना है.

पढ़ेंः क्या परमाणु-हमला करने वाली पनडुब्बियों के मामले में भारत आत्मनिर्भर नहीं है?

भारतीय नौसेना द्वारा आयोजित सिटमैक्स का पहला संस्करण सितम्बर 2019 में पोर्ट ब्लेयर से कुछ दूर समुद्र में किया गया था. 2020 के इस अभ्यास का आयोजन आरएसएन ने किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज