आंध्र प्रदेश में वैक्सीन की कमी पर सीएम ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी, प्राइवेट अस्पतालों को लेकर कही ये बात

रेड्डी ने कहा कि आज की स्थिति में जहां वैक्सीन की आपूर्ति बहुत सीमित है.

रेड्डी ने कहा कि आज की स्थिति में जहां वैक्सीन की आपूर्ति बहुत सीमित है.

Andhra Pradesh Corona Vaccination Drive: वैक्सीन की कमी को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक पत्र लिखा है. अपने पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय में देश में मांग के अनुरूप टीके का उत्पादन नहीं हो पा रहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में कोरोना का कहर जारी है. कई राज्य सरकारें वैक्सीन की कमी से भी जूझ रही है. वैक्सीन की बढ़ती मांग को देखते हुए और घरेलू टीका उपलब्ध नहीं हो पाने के कारण कुछ राज्यों ने टीके की खरीद के लिए ग्लोबल टेंडर जारी करने की बात कही है. इसी बीच वैक्सीन की कमी को लेकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक पत्र लिखा है. अपने पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय में देश में मांग के अनुरूप टीके का उत्पादन नहीं हो पा रहा है. ऐसा चलता रहा तो लोगों को टीका लगाने में कई महीनों का समय लगेगा.

उन्होंने कहा कि आज की स्थिति में जहां वैक्सीन की आपूर्ति बहुत सीमित है. लोगों के पास निजी अस्पतालों का विकल्प है, लेकिन वो अत्याधिक कीमत वसूल करते हैं, ये बिल्कुल अस्वीकार्य है. मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि इस पर गौर करें और प्राइवेट अस्पतालों को खत्म करें ताकि पूरा स्टॉक राज्य और केंद्र के पास उपलब्ध हो.

वैक्सीन की कमी पर सीरम ने कही ये बात

इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर सुरेश जाधव ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार ने वैक्सीन के स्टॉक के बारे में जाने बगैर और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की गाइडलाइन पर विचार किए बिना कई आयु वर्गों के टीकाकरण को इजाजत दे दी.


हील हेल्थ की ओर से आयोजित एक ई-समिट में बोलते हुए सुरेश जाधव ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि देश को WHO के दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए और इसी के अनुसार टीकाकरण किया जाना चाहिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज