• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ये हैं दिल्ली के वो चार गैंग्स जिनके बीच चल रही है गैंगवार

ये हैं दिल्ली के वो चार गैंग्स जिनके बीच चल रही है गैंगवार

फाइल फोटो.

फाइल फोटो.

रविवार को रोहिणी इलाके में मेट्रो स्टेशन के पास हुई गैंगवार कोई पहली नहीं है. आधा दर्जन से अधिक गिरोह ने दिल्ली को अपना डेरा बना लिया है. आए दिन ये गिरोह धाक जमाने के चलते आमने-सामने आकर टकराते रहते हैं.

  • Share this:
    कुछ समय पहले तक गैंग्स और गैंगवार की खबरें मुम्बई से सुनने को मिलती थी. लेकिन अब शायद दिल्ली भी मुम्बई की तर्ज पर चल निकली है. रविवार को रोहिणी इलाके में मेट्रो स्टेशन के पास हुई गैंगवार कोई पहली नहीं है. आधा दर्जन से अधिक गिरोह ने दिल्ली को अपना डेरा बना लिया है. आए दिन ये गिरोह धाक जमाने के चलते आमने-सामने आकर टकराते रहते हैं.

    2017 में तो ये गैंग 6 बार आमने-सामने आकर एक-दूसरे के खून के प्यासे बन चुके हैं. 2018 में भी रवि भारद्वाज को गोगी गैंग ने 15 गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया था. द्वारका जिले में ही इस साल अब तक तीन गैंगवार की वारदात हो चुकी हैं. हालांकि दिल्ली पुलिस के कमिश्नर का बयान है कि दिल्ली में गैंगवार को कोई ट्रेंड नहीं है. रोहिणी की घटना को उन्होंने सिर्फ एक वारदात बताया है.

    दिल्ली में जोगिदंर जोगी गैंग और सुनील उर्फ टिल्लू गैंग की आपसी दुश्मनी से दिल्ली पुलिस भी अनजान नहीं है. कई बार ये गिरोह आपस में टकरा चुके हैं. आपसी रंजिश के चलते ही दोनों गैंग के कई लोग मारे जा चुके हैं.

    नीरज बवाना गिरोह से नीतू दाबोदा गैंग की रंजिश चल रही थी. इसी दौरान नीतू की मौत हो गई और गैंग का कंट्रोल राजेश बवाना के हाथ में आ गया है. हालांकि राजेश जेल में बंद है लेकिन उसके बाद भी वह गैंग को ऑपरेट कर रहा है. उसके गुर्गे वारदातों को अंजाम दे रहे हैं.

    यमुनापार इलाके में एक्टिव नासिर गैंग और छेनू गिरोह में वर्चस्व की लड़ाई चल रही है. दिल्ली के अलावा दोनों गैंग वेस्ट यूपी में भी सक्रिय हैं. खास बात ये है कि दोनों ही गैंग वारदातों को कुछ इस तरह से अंजाम देते हैं कि लोगों के बीच गिरोह की दहशत पैदा हो जाती है.

    मंजीत महल और विकास दलाल कुछ समय पहले साथ मिलकर काम करते थे. लेकिन किसी बात पर अनबन हुई तो विकास ने मंजीत का साथ छोड़ दिया और दूसरे साथियों के साथ अपराध करने लगा. आपसी रंजिश के चलते ही विकास ने रविवार को मंजीत महल के राइट हैंड प्रवीण गहलौत की हत्या की है.

    लूटपाट करने के लिए महीने में 1.50 लाख रुपये खर्च करती थी बदमाशों की टोली

    इसलिए महिलाओं को नहीं पुरुषों को लूटती थी ये गैंग, पत्रकार होने पर ज्यादा मारते थे

    बेटे के शव की तलाश के लिए पिता को थमाया 9.84 लाख रुपये का बिल

    पेट्रोल पंप पर अब इस नए तरीके से शुरू हुई तेल की चोरी, एसटीएफ करेगी जांच

    5 चुनावों में फेल तो 2 में सही साबित हो चुके हैं एग्जिट पोल!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज