भारत, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार में बाढ़ के कारण 600 लोगों की मौत, 2.5 करोड़ प्रभावित

भारत में तीन सबसे प्रभावित राज्यों असम, बिहार और उत्तर प्रदेश में यूनिसेफ राज्य सरकारों के साथ मिलकर योजना और समन्वय समर्थन प्रदान करने के लिए काम कर रहा है.

भाषा
Updated: July 27, 2019, 5:15 PM IST
भारत, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार में बाढ़ के कारण 600 लोगों की मौत, 2.5 करोड़ प्रभावित
बाढ़ से तकरीबन 600 लोगों की मौत हो गई और 2.5 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: July 27, 2019, 5:15 PM IST
संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि भारत, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार में मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ से तकरीबन 600 लोगों की मौत हो गई और 2.5 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस के उप प्रवक्ता फरहान हक ने बताया कि पांच लाख से अधिक लोग विस्थापित भी हुए हैं. उन्होंने बताया कि कम से कम 600 लोग मानसून संबंधी घटनाओं में मारे गए हैं.

हक ने कहा कि मानवीय मदद मुहैया कराने वाले संयुक्त राष्ट्र के कर्मियों के अनुसार 'भारत, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार में मूसलाधार बारिश के चलते आई बाढ़ से 2.5 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए, जिनमें से पांच लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए.'

भारत में तीन सबसे प्रभावित राज्यों असम, बिहार और उत्तर प्रदेश में यूनिसेफ राज्य सरकारों के साथ मिलकर योजना और समन्वय समर्थन प्रदान करने के लिए काम कर रहा है.

राहत शिविर में लोगों को दवाइयां पहुंचाते डॉक्टर (फाइल फोटो)


लोगों को राहत सामग्री देने की कोशिश जारी
संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी ने कहा कि क्षतिग्रस्त सड़कों, पुलों और रेलवे के कारण कई इलाकों में पहुंच अब भी संभव नहीं है. बच्चों के लिए सबसे बड़ी जरूरत साफ पानी, बीमारियां फैलने से रोकने के लिए स्वच्छता से जुड़ी चीजों की आपूर्ति, खाद्य पदार्थों की आपूर्ति और विस्थापन केन्द्रों में बच्चों के खेलने के लिए साफ स्थान है.

भारत में असम, बिहार, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में एक करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हैं, जिनमें 43 लाख बच्चे हैं. स्थिति के बिगड़ने से इन आंकड़ों के बढ़ने की आशंका है. अकेले असम में बाढ़ से करीब 2000 स्कूल क्षतिग्रस्त हुए हैं.
Loading...

बाढ़ में फंसे लोगों की जान बचाती भारतीय सेना (फाइल फोटो)


लोगों की जान बचाने के लिए सेना मुस्तैद
बता दें कुछ दिन पहले ही तेज बारिश के दौरान असम के नलबारी जिले के बलीतारा गांव में बाढ़ का स्तर तेजी से बढ़ने लगा और लोगों के डूबने के आसार नज़र आने लगे. लोगों के बचाव कार्य के लिए तैनात भारतीय सेना ने मुस्तैदी दिखाते हुए तुरंत वहां फंसे हुए लोगों की जान बचाई भारतीय सेना ने यहां पहुंचकर 150 लोगों को बाढ़ के पानी में डूबने से बचाया. इन लोगों में 60 महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे.

भारतीय सेना के जवान इस बचाव अभियान के दौरान छोटे बच्चों को खुद अपनी गोद में लेकर बाढ़ से निकालते दिखे. वहीं महिलाएं और पुरुष घर से जरूरी सामान आदि पॉलिथिन में लेकर जाते दिखे.

ये भी पढ़ें-
जब रेलवे ट्रैक पर भरा पानी,अटक गईं सैकड़ों लोगों की सांसें..

AIIMS में कीमो ले रहे मरीजों पर गिरने लगा पानी, वीडियो वायरल
First published: July 27, 2019, 5:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...