सभी सीटें हारने के बाद आप ने कहा - दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए किसी से नहीं करेंगे गठबंधन

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने के अगले ही दिन यानी 24 मई को दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने घोषणा कर दी है कि विधानसभा चुनावों के लिए किसी दल के साथ गठबंधन नहीं किया जाएगा.

News18.com
Updated: May 24, 2019, 11:56 PM IST
सभी सीटें हारने के बाद आप ने कहा - दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए किसी से नहीं करेंगे गठबंधन
अरविंद केजरीवाल
News18.com
Updated: May 24, 2019, 11:56 PM IST
राष्ट्रीय राजधानी में आम आदमी पार्टी का मत-प्रतिशत 2014 के 32.90 फीसदी से गिरकर इस बार के लोकसभा चुनाव में 18 प्रतिशत रह गया. लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने के अगले ही दिन यानी 24 मई को दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने घोषणा कर दी है कि विधानसभा चुनावों के लिए किसी दल के साथ गठबंधन नहीं किया जाएगा. पार्टी ने कहा कि दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कोई विकल्प नहीं है. पार्टी का दावा है कि फरवरी, 2019 में होने वाले विधानसभा चुनावों में आप बिना किसी गठबंधन के बहुमत हासिल कर लेगी.

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले गठबंधन की तमाम कोशिशों में नाकाम रही आप के नेता गोपाल राय ने कहा कि पार्टी दिल्ली विधानसभा चुनाव अकेले ही लड़ेगी. बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी में आम आदमी पार्टी का मत-प्रतिशत 2014 के 32.90 फीसदी से गिरकर इस बार के लोकसभा चुनाव में 18 प्रतिशत रह गया. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2013 में आप ने कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनाई थी, जो महज 49 दिन ही चली. उस चुनाव में पार्टी के पक्ष में 29.498 फीसदी मतदान हुआ था. विधानसभा चुनाव 2015 में आप ने दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 67 पर जीत दर्ज की थी. तब पार्टी का मत-प्रतिशत बढ़कर 54.34 फीसदी हो गया था.



राय ने कहा कि लोकसभा चुनाव में ध्रुवीकरण के कारण आप का मत-प्रतिशत गिर गया है. लोगों ने प्रधानमंत्री पद के लिए मतदान किया. लोगों को बताया गया कि पीएम मद के लिए नरेंद्र मोदी है. अगर वह नहीं जीतते हैं तो राहुल गांधी पीएम बनेंगे. आप ने किसी नेता को प्रधानमंत्री प्रत्याशी के तौर पर पेश नहीं किया था. बीजेपी और कांग्रेस को वोट देने वाले लोगों का भी कहना है कि विधानसभा चुनाव में वे केजरीवाल के पक्ष में ही मतदान करेंगे. दिल्ली में केजरीवाल का कोई विकल्प नहीं है.

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: मोदी के ये सात 'ब्रह्मास्त्र', जिनके आगे ढ़ेर हुआ पूरा विपक्ष

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...