Home /News /nation /

अमेठी से चुनाव लड़ना एक ऐसी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई थी जो काम नहीं करती थी: स्मृति ईरानी

अमेठी से चुनाव लड़ना एक ऐसी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई थी जो काम नहीं करती थी: स्मृति ईरानी

ईरानी ने एक घटना का जिक्र भी किया कि अमेठी के जगदीशपुर में उन्हें धमकाने की कोशिश भी की गई थी. (फाइल फोटो)

ईरानी ने एक घटना का जिक्र भी किया कि अमेठी के जगदीशपुर में उन्हें धमकाने की कोशिश भी की गई थी. (फाइल फोटो)

Smriti Irani, Rahul Gandhi, Priyanka Gandhi, Amethi : केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह मेरे लिए बहुत बड़ी चुनौती थी. उन्होंने बताया कि जब वह अमेठी गई तो उनके पास सिर्फ 22 दिन थे. बीजेपी को कभी भी अमेठी में 30,000 से ज्यादा वोट नहीं मिले थे लेकिन हमने सिर्फ 21 दिन में 3 लाख वोट हांसिल कर लिए थे जिसका साफ मतलब था कि 2.7 लाख लोग किसी के आने का इंतजार कर रहे थे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर निशाना साधते हुए कहा कि अमेठी से लोकसभा चुनाव के लिए खड़ा होना एक ऐसी व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई थी जो कभी काम नहीं करना चाहती थी. उन्होंने कहा कि अमेठी (Amethi) का चयन करना देश के नागिरकों के लिए काम न करने वाली व्यवस्था के खिलाफ विद्रोह था. केंद्रीय मंत्री ऐसे समय पर हमला किया है जब राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा शनिवार को अमेठी में मौजूद थे.

बता दें कि राहुल गांधी 2019 में लोकसभा चुनाव में हार के बाद पहली बार शनिवार को अमेठी पहुंचे थे. स्मृति ईरानी ने कहा चुनाव आते ही उनकी यात्रा शुरू हो गई. अपनी नई किताब के विमोचन के दौरान News18 के एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “आज भाई-बहन अमेठी में थे, उन्हें लखनऊ और संत कबीर नगर और छत्तीसगढ़ के लोगों को लाना था.

यह भी पढ़ें – स्वर्ण मंदिर में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की कोशिश, लोगों ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला

भाजपा सांसद ने कहा कि आज बहुत कुछ सामने है कि जो 50 वर्षों तक एक निर्वाचन क्षेत्र में रहे उनके और मेरे निर्वाचन क्षेत्र से कैसे संबंध हैं. उन्होंने 2014 की बात को याद करते हुए कहा कि जब उन्हें अमेठी जाने का निर्देश दिया गया था तो उन्होंने अपने वरिष्ठों से अपने परिवार को फोन करने और अनुमति लेने का अनुरोध किया था क्योंकि इस फैसले से न केवल उन्हें बल्कि उनको भी प्रभावित करने कोशिश होने वाली थी जो उनसे प्यार करते थे.

उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए बहुत बड़ी चुनौती थी. उन्होंने बताया कि जब वह अमेठी गई तो उनके पास सिर्फ 22 दिन थे. बीजेपी को कभी भी अमेठी में 30,000 से ज्यादा वोट नहीं मिले थे लेकिन हमने सिर्फ 21 दिन में 3 लाख वोट हांसिल कर लिए थे जिसका साफ मतलब था कि 2.7 लाख लोग किसी के आने का इंतजार कर रहे थे.

ईरानी ने एक घटना का जिक्र भी किया कि अमेठी के जगदीशपुर में उन्हें धमकाने की कोशिश भी की गई थी. जब वे जगदीशपुर पहुंची थीं तो उनसे कहा गया कि जब संजय सिंह और रवींद्र प्रताप सिंह यहां से चुनाव लड़े थे तो उन पर गोलियां चल गई थी और जब मेनिका गांधी यहां से लड़ी थी तो उनके कपड़े फट गए थे. उन्होंने कहा कि मुझसे कहा गया कि आप पर भी गोली चल सकती है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैने लोगों को जवाब दिया कि अगर मुझ पर गोली चलेगी तो पीएम मोदी को 400 सीट मिलेंगीं.

Tags: Amethi news, Rahul gandhi, Smriti Irani

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर