स्मृति ईरानी का राहुल गांधी पर निशाना, कहा- उन्हें लगता है वह देश हैं और जनता उनके खानदान के अधीन

स्मृति ईरानी ने कहा ऐसे अहंकार और भ्रम में राहुल गांधी जी रहे हैं इसलिए देश ने उन्हें पीछे छोड़ दिया है. (File Photo)
स्मृति ईरानी ने कहा ऐसे अहंकार और भ्रम में राहुल गांधी जी रहे हैं इसलिए देश ने उन्हें पीछे छोड़ दिया है. (File Photo)

Farm Laws: स्मृति ईरानी ने नए कृषि कानून को लेकर विरोध कर रहे राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह नहीं चाहते हैं कि देश की अर्थव्यवस्था मजबूत हो. वह पहले भी सुधारों का विरोध करते रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 7:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Former Congress President & Waynad MP Rahul Gandhi) पर आरोप लगाया है कि वह भारत की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) की मजबूती नहीं चाहते हैं. केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि चाहे वह देश को एक बाजार में एकीकृत करना हो या देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करना हो या किसानों को कहीं भी उपज बेचने का अधिकार सुनिश्चित करना हो- राहुल गांधी कभी नहीं चाहते हैं कि हमारी आर्थिक व्यवस्था मजबूत हो. ऐसा पहली बार नहीं है कि वह सुधारों के खिलाफ हैं.

स्मृति ईरानी ने कहा कि मैं राहुल गांधी की व्याकुलता को समझती हूं कि पैसा (सरकार द्वारा जारी योजनाओं के तहत) किसी गरीब के खाते में गया है. किसी कमीशन अजेंट और बिचौलिए को नहीं. इसलिए वो बिचौलियों के समर्थन में जब सड़क पर उतरते हैं तो देश को आश्चर्य नहीं होता. स्मृति ईरानी ने कहा कि इस व्यक्ति (राहुल गांधी) का अहंकार इतना है कि इसे लगता है कि वो देश है, देश की 130 करोड़ जनता उसके खानदान के अधीन है. उनके ट्विटर हैंडल से कहा जाता है-"इंडिया इज़ इंदिरा एंड इंदिरा इज़ प्रियंका." ऐसे अहंकार और भ्रम में वो जी रहे हैं इसलिए देश ने उन्हें पीछे छोड़ दिया है.

ये भी पढ़ें- हाथरस पीड़िता की पहचान उजागर करने पर दिग्विजय, स्वरा और अमित मालवीय को नोटिस



स्मृति ने राहुल को बताया था वीआईपी किसान
इससे पहले सोमवार को स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को वीआईपी किसान बताते हुए कहा था कि, ‘‘वह ट्रैक्टर पर भी सोफा लगाकर बैठते हैं. उनकी तरह का वीआईपी किसान कभी भी उस प्रणाली का समर्थन नहीं कर सकता जो छोटे एवं हाशिए के किसानों को बिचौलियों के चंगुल से मुक्त करने के लिए बना है.

हाथरस केस पर महिला विकास मंत्री ने कही ये बात
स्मृति ईरानी ने हाथरस की घटना (Hathras Case) को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे आश्वासन दिया है कि एसआईटी का गठन हो चुका है और ये केस भी सीबीआई (CBI) को सौंप दिया गया है. ईरानी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि मामले कि निष्पक्ष जांच होगी और न्याय मिलेगा.

स्मृति ने इस मामले पर सोमवार को कहा था कि,‘‘मुझे विश्वास है कि एक बार एसआईटी अपनी रिपोर्ट सौंप दे, तो वह इस (अंतिम संस्कार से जुड़े विवाद के) संबंध में लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई करेंगे.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज