अपना शहर चुनें

States

बर्फबारी: कश्मीर घाटी में सीमित मात्रा में मिलेगा ईंधन, 5 फीट तक जमी बर्फ की परतें

बुधवार को श्रीनगर एयरपोर्ट पर पहली बार फ्लाइट लैंड हुई. यहां भारी बर्फबारी के चलते 4 दिनों के लिए हवाई उड़ानों को रद्द कर दिया गया था. (फोटो: ANI/Twitter)
बुधवार को श्रीनगर एयरपोर्ट पर पहली बार फ्लाइट लैंड हुई. यहां भारी बर्फबारी के चलते 4 दिनों के लिए हवाई उड़ानों को रद्द कर दिया गया था. (फोटो: ANI/Twitter)

J&K Snowfall: लोगों ने सरकार की सर्दियों को लेकर तैयारियों पर सवाल उठाए हैं. लोगों का कहना है कि प्रशासन सर्दियों के लिए तैयारी और पर्याप्त स्टॉक का दावा कर रहा है, लेकिन सिलेंडर के लिए नागरिकों से 3 हफ्तों तक इंतजार करने के लिए कहा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 12:05 PM IST
  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में बीते कई दिनों से बर्फबारी जारी है. राज्य में बर्फबारी के चलते नागरिकों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. वहीं, प्रशासन ने मुश्किलों को देखते हुए पेट्रोल-डीजल की खरीद सीमित कर दी है. यानी नागरिक अब तय समय अंतराल में सीमा से ज्यादा ईंधन नहीं खरीद सकेंगे. हालांकि, इससे रहवासियों में खासी नाराजगी है.

जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी पूरे रंग में है. सड़कों और घरों पर सफेद चादर जमी हुई है. वहीं, इन्हें हटाने का काम भी जारी है. राज्य प्रशासन के आदेश की मानें, तो घाटी में अब दोपहिया चालक 3 लीटर, निजी कारें 10 लीटर और कामर्शियल गाड़ियां 20 लीटर तक ईंधन ले सकती हैं. इसके अलावा राशनिंग (Rationing) का नियम एलपीजी सिलेंडर गैस पर भी लागू है.

यहां के लोगों ने सरकार की सर्दियों को लेकर तैयारियों पर सवाल उठाए हैं. लोगों का कहना है कि प्रशासन सर्दियों के लिए तैयारी और पर्याप्त स्टॉक का दावा कर रहा है, लेकिन सिलेंडर के लिए नागरिकों से 3 हफ्तों तक इंतजार करने के लिए कहा जा रहा है. वहीं, कुछ लोग कह रहे हैं कि उन्होंने ईंधन पर पहली बार राशनिंग के बारे में सुना है.



यह भी पढ़ें: हिमाचल में मौसम: 4 दिन बर्फबारी-बारिश के बाद खिली धूप, अटल टनल के पास एवलांच
राज्य में ईंधन पर राशनिंग का फैसला दशकों बाद पहली बार लिया गया है. बीते तीन दिनों से जारी बर्फबारी ने कश्मीर घाटी (Kashmir Valley) को दूसरे इलाकों से काट दिया है. यहां सड़कें ब्लॉक हो गईं हैं और बिजली गायब है. बर्फ की वजह से श्रीनगर-जम्मू नेशनल हाईवे बंद पड़ा है. वहीं, कई यात्री उड़ानों को स्थगित कर दिया है. उत्तर कश्मीर के मैदानी इलाकों में बर्फ की 12 इंच की परत जमी हुई है. जबकि, दक्षिण कश्मीर में 5 फीट तक बर्फ बिछी हुई है.

मौसम विभाग की भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी करने के बावजूद सरकार की तैयारी नाकाफी नजर आ रहीं हैं. इस वजह से घाटी के लोगों का जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. बीते 3 दिनों से कई सड़कें ब्लॉक हैं. मंगलवार को सरकार ने लोगों से घर में रहने की अपील की है, ताकि सड़कों पर जमी बर्फ को हटाया जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज