राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए नागपुर संघ मुख्यालय से भेजी गई मिट्टी

राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए नागपुर संघ मुख्यालय से भेजी गई मिट्टी
अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन आगामी 5 अगस्त को होगा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

विहिप (Vishwa Hindu Parishad) के विदर्भ प्रांत प्रमुख गोविंद शिंदे (Govind Shinde) ने कहा है कि नागपुर के पास रामटेक में एक मंदिर की मिट्टी और पांच नदियों के संगम के पानी को भी भूमिपूजन के लिए भेजा गया है.

  • Share this:
नागपुर. अयोध्या में भगवान राम के मंदिर (Ram Temple in Ayodhya) के लिए 5 अगस्त को होने वाले भूमिपूजन (Bhoomi Pujan) के लिए नागपुर संघ मुख्यालय से मिट्टी भेजी गई है. ये जानकारी विश्व हिंदू परिषद के एक पदाधिकारी ने दी है. विहिप के विदर्भ प्रांत प्रमुख गोविंद शिंदे ने कहा है कि नागपुर के पास रामटेक में एक मंदिर की मिट्टी और पांच नदियों के संगम के पानी को भी आगामी समारोह के लिए भेजा गया है.

'कई जगह से एकत्र किए जाने थे मिट्टी और जल'
उन्होंने कहा, ‘इससे पहले फैसला हुआ था कि धार्मिक स्थलों सहित देश के विभिन्न भागों की मिट्टी और पानी को संग्रहित किया जाएगा और मार्च में राम मंदिर के भूमि भूजन के लिए हजारों लोग जाते. हालांकि कोविड-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं हो पाया.'

अचानक रखी गई भूमिपूजन की तारीख
उन्होंने कहा, ‘अब भूमि पूजन के लिए अचानक 5 अगस्त की तारीख तय की गई तो हम जहां जा सकते थे वहां से मिट्टी और पानी एकत्रित कर उसे अयोध्या भेजने का फैसला किया.’ उन्होंने कहा,‘विचार यही है कि हमें भी यह महसूस हो कि भूमि पूजन आयोजन में हमने हिस्सा लिया है.’ विहिप के एक पदाधिकारी के मुताबिक बृहस्पतिवार को मिट्टी और पानी को कूरियर द्वारा अयोध्या भेज दिया गया है.



श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक सदस्य ने बुधवार को बताया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह में शिरकत करेंगे. हालांकि 5 अगस्त के मुहुर्त को लेकर काफी विवाद हो रहा है.

हाईकोर्ट में याचिका खारिज
भूमिपूजन को लेकर दिल्ली पत्रकार साकेत गोखले ने एक जनहित याचिका भी दायर की थी. इलाहाबाद हाईकोर्ट में दायर याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी गयी है. चीफ जस्टिस गोविंद माथुर को पिटिशन भेजी गई थी. दिल्ली के पत्रकार साकेत गोखले की ओर से भेजे गए लेटर पीआईएल में कहा गया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाला भूमि पूजन कोविड-19 के अनलॉक-2 की गाइडलाइन का उल्लंघन है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading