LAC पर तनाव: चीन के दावे पर भारत ने कहा-सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं

LAC पर तनाव: चीन के दावे पर भारत ने कहा-सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं
भारत और चीन के बीच मई से सीमा पर तनाव बना हुआ है

भारतीय विदेश मंत्रालय (Ministry of Forgien Affairs) ने चीन (China) के अधिकतर स्थानों से बलों को पीछे हटा लेने के दावे पर कहा है कि सैन्य बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और चीन (India-China) के बीच पूर्वी लद्दाख (Northern Ladakh) में पिछले करीब 3 महीने से सीमा विवाद को लेकर तनाव बरकरार है. चीन पूर्वी लद्दाख में सीमा पर ज्यादातर जगहों से अपने सैन्य बलों को पीछे हटा लेने का दावा कर रहा है. भारत के विदेश मंत्रालय (Ministry of Forgien Affairs) ने चीन (China) के अधिकतर स्थानों से बलों को पीछे हटा लेने के दावे पर कहा है कि सैन्य बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने साप्ताहिक प्रेस ब्रीफिंग में भारत और चीन के वरिष्ठ कमांडरों की भविष्य में होने वाली बैठक को लेकर भी इशारा किया.

अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया पूरी करने संबंधी कदमों पर विचार करने के लिए भारत एवं चीन के वरिष्ठ कमांडर निकट भविष्य में मुलाकात करेंगे. विदेश मंत्रालय ने चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति कायम रखना द्विपक्षीय संबंधों का आधार है. लद्दाख गतिरोध को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि चीन सीमा से बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया पूरी करने और तनाव कम करने के लिए हमारे साथ ईमानदारी से मिलकर काम करेगा.

ये भी पढ़ें :- नेहरू सरकार का वो मंत्री, जिसने सोमनाथ मंदिर बनाने में मुख्य भूमिका निभाई



चीन ने किया था ये दावा
बता दें चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बीजिंग में मंगलवार को अपनी प्रेस वार्ता में कहा था कि चीन और भारत के अग्रिम पंक्ति के सैनिकों ने सीमा पर ज्यादातर स्थानों पर पीछे हटने की प्रक्रिया पूरी कर ली है तथा जमीनी स्तर पर तनाव घट रहा है. वांग ने प्रेस वार्ता में कहा, ‘‘हमने कमांडर स्तर की चार दौर की वार्ता की और परामर्श एवं समन्वय के लिए कार्यकारी तंत्र (डब्ल्यूएमसीसी) की तीन बैठकें की.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब शेष मुद्दों के समाधान के लिए कमांडर स्तर की पांचवें दौर की वार्ता के लिए दोनों पक्ष सक्रियता से तैयारी कर रहे हैं. हम उम्मीद करते हैं कि भारत हमारे बीच बनी सहमति को क्रियान्वित करने के लिए चीन के साथ काम करेगा और सीमावर्ती इलाके में शांति एवं स्थिरता को कायम रखेगा.’’

यह पूछे जाने पर कि कमांडर स्तर की अगले दौर की वार्ता कब होगी, वांग ने कहा कि समय आने पर सूचना जारी कर दी जाएगी.

गौरतलब है कि गलवान घाटी (Galwan Valley) में दोनों देशों के सैनिकों के बीच 15 जुलाई को हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैन्य कर्मियों के शहीद होने के बाद पूर्वी लद्दाख में तनाव कई गुना बढ़ गया. चीनी सैनिक भी इसमें हताहत हुए, लेकिन पीएलए ने इसकी कोई संख्या सार्वजनिक नहीं की है. हालांकि, अमेरिकी खुफिया विभाग मुताबिक झड़प में चीन के 35 सैनिक मारे गए थे. (भाषा के इनपुट सहित)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading