अपना शहर चुनें

States

Pfizer वैक्सीन में निर्माण संबंधी समस्याएं, काफी ज्यादा ठंडे तापमान में रखी गईं कुछ वैक्सीन: रिपोर्ट

फाइजर के टीकों को -70 डिग्री तापमान के आसपास रखा जाना जरूरी है. (सांकेतिक तस्वीर)
फाइजर के टीकों को -70 डिग्री तापमान के आसपास रखा जाना जरूरी है. (सांकेतिक तस्वीर)

Pfizer Vaccine: अमेरिकी सेना के जनरल गुस्ताव पर्ना ने कहा कि कैलिफोर्निया में पहुंची कोविड-19 वैक्सीन खुराक की कम से कम दो ट्रे जिसका स्टोरेज का तापमान को माइनस 80 सेल्सियस (माइनस 112 फ़ारेनहाइट) से नीचे चला गया है, उन्हें बदलने की ज़रूरत है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2020, 5:43 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी अधिकारियों ने बुधवार को प्रेस कॉल में कहा कि फाइजर इंक (Pfizer Inc) के कोविड -19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) रोलआउट के पहले दिनों में अप्रत्याशित ठंड देखी गई है जिसमें कुछ टीकों को अत्यधिक ठंडे तापमान पर रखा जा रहा है और फाइजर के संभावित उत्पादन में संभावित चुनौतियों की सूचना दी गई है. अमेरिकी सेना के जनरल गुस्ताव पर्ना ने कहा कि कैलिफोर्निया में पहुंची कोविड-19 वैक्सीन खुराक की कम से कम दो ट्रे जिसका स्टोरेज का तापमान को माइनस 80 सेल्सियस (माइनस 112 फ़ारेनहाइट) से नीचे चला गया है, उन्हें बदलने की ज़रूरत है. पार्टनर बायोएनटेक एसई के साथ मिलकर बनाए जा रहे फाइजर के टीकों को -70 डिग्री तापमान के आसपास रखा जाना जरूरी है.

अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या टीके को अत्यधिक ठंडे तापमान पर रखने से सुरक्षा या प्रभावकारिता का खतरा होता है. अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा सचिव एलेक्स अजार ने कहा फाइजर ने कुछ उत्पादन से जुड़े मसलों की भी सूचना दी है. अजार ने कहा "हम यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी तंत्र द्वारा, हम उन्हें यह सुनिश्चित करने के लिए पूर्ण समर्थन देंगे कि वे अमेरिकी लोगों के लिए उत्पादन कर सकते हैं."

फाइजर ने टिप्पणी के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया, लेकिन इसके मुख्य कार्यकारी अल्बर्ट बोरला ने सीएनबीसी को बताया कि इस हफ्ते की शुरुआत में कंपनी अमेरिकी सरकार से कुछ विशेष रूप से कुछ घटकों में "महत्वपूर्ण आपूर्ति सीमाओं" को राहत देने के लिए रक्षा उत्पादन अधिनियम का उपयोग करने के लिए कह रही थी. इस बारे में उन्होंने आगे कोई जानकारी नहीं दी. अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि विशिष्ट विनिर्माण चुनौतियां क्या थीं.



ये भी पढ़ें- कई दिनों बाद भी कोरोना पीड़ित के शव से हो सकता है संक्रमण, शोध में आया सामने
अगले सप्ताह तक 2 मिलियन खुराक आवंटिक करने की योजना
फाइजर के पार्टनर बायोएनटेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उगुर साहिन ने पिछले सप्ताह रॉयटर को बताया कि कच्चे माल की आपूर्ति के मुद्दों को लेकर इस साल के शुरू में फाइजर का 100 मिलियन खुराक का प्रारंभिक 2020 उत्पादन लक्ष्य आधा कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि तब से हल हो गया है और विनिर्माण बड़े पैमाने पर शुरू हो गया है.

अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि उनके पास अगले सप्ताह फाइजर वैक्सीन की 2 मिलियन खुराक और मॉडर्ना इंक की 5.9 मिलियन खुराक आवंटित करने की योजना है, यह मानते हुए कि यह नियामक प्राधिकरण प्राप्त करता है. उन्होंने कहा कि मॉडर्ना वैक्सीन शुक्रवार के रूप में अधिकृत होने की संभावना है.

अमेरिकी ऑपरेशन वार्प स्पीड मुख्य सलाहकार डॉ. मोन्सेप सलोई ने कहा अमेरिकी सरकार ने 100 मिलियन अतिरिक्त खुराक को सुरक्षित करने के लिए फाइजर के साथ बातचीत की है. इससे पहले इसने फाइजर के साथ बिना तय मूल्य पर 500 मिलियन अतिरिक्त खुराक खरीदने के विकल्प के लिए अनुबंध किया था.

ये भी पढ़ें- AAP विधायक के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने सदन में फाड़ी कृषि कानून की कॉपी

अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि अमेरिका ने पहले ही फाइजर / बायोएनटेक शॉट के बीच 300 मिलियन वैक्सीन की खुराक और अगले साल की पहली छमाही में मॉडर्ना से अनुबंधित कर लिया है, और कोविड-19 वैक्सीन विकसित करने वाले ड्रगमैकर्स से कुल 900 मिलियन खुराक ली गई है.

अधिकारियों ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ हिस्सों में गंभीर हिमपात के पूर्वानुमान के जवाब में रसद कंपनियां जैसे यूनाइटेड पार्सल सर्विसेज इंक और फेडएक्स कॉर्प इस सप्ताह वैक्सीन डिलीवरी के लिए आकस्मिक योजना विकसित कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज