लाइव टीवी

आर्मी चीफ बोले- कश्मीर में माहौल खराब करने के पीछे हैं कुछ लोग, सेना आगे भी देगी मुंहतोड़ जवाब

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 7:52 AM IST
आर्मी चीफ बोले- कश्मीर में माहौल खराब करने के पीछे हैं कुछ लोग, सेना आगे भी देगी मुंहतोड़ जवाब
सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत

मिलिट्री ऑपरेशन के बाद सेना प्रमुख बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'आतंकियों ने बीते एक महीने से विभिन्न इलाकों में एलओसी से घुसपैठ की कोशिशें की हैं, लेकिन भारतीय सेना (Indian Army) ने आतंकवादियों की हर कोशिश नाकाम कर दी है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 7:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय सेना (Indian Army) ने रविवार को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में चल रहे आतंकी कैंप (Terror camp) को तबाह कर दिया. जम्मू-कश्मीर के तंगधार और केरन सेक्टर के दूसरी तरफ भारतीय सेना द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई में छह से 10 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए, जबकि तीन आतंकी कैंप तबाह हो गए. इस बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने बताया कि घाटी में धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं, मगर देश के बाहर बैठे कुछ लोगों को यह बात हजम नहीं हो रही है. सेना प्रमुख ने कहा कि यह लोग कोई और नहीं पाकिस्तान और पीओके में बैठे आतंकी संगठनों के आका वह पाक की एजेंसी के लोग हैं. वह पीछे छिपकर काम कर रहे हैं. वह कभी कश्मीर में शांति नहीं देख सकते हैं, लेकिन भारतीय सेना उनकी हर एक हिमाकत का मुंहतोड़ जवाब देना जानती है.

मिलिट्री ऑपरेशन के बाद सेना प्रमुख बिपिन रावत ने ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'हमे इस बात की जानकारी काफी पहले से है कि पीओके की अग्रिम चौकियों और सीमा के नज़दीक आतंकियों को पाक सेना द्वारा ठहराया गया है. आतंकियों ने बीते एक महीने से विभिन्न इलाकों में एलओसी से घुसपैठ की कोशिशें की हैं, लेकिन भारतीय सेना ने आतंकवादियों की हर कोशिश नाकाम कर दी है.'

Border-Security-Force-BSF-soldiers-patrol-1
भारतीय सेना ने रविवार को पीओके में बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया.


आर्टिकल 370 हटने के बाद घुसपैठ बढ़ी

जनरल बिपिन रावत ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में जब से आर्टिकल 370 हटाकर विशेष राज्य का दर्जा खत्म किया गया है, तब से हमें सीमापार से घुसपैठ की लागातर इनपुट मिल रहे हैं.' उन्होंने कहा, 'इन कैंपों के बारे में हमारे पास सूचना थी, जिसे हमने निशाना बनाया...और उनका समर्थन करने वाले लोग, पाकिस्तानी चौकियां भी हमारी जवाबी कार्रवाई की जद में आए.’

दूसरी तरफ छायी खामोशी
जवाबी कार्रवाई पर सेना प्रमुख ने कहा कि अब दूसरी तरफ खामोशी छायी है, क्योंकि एलओसी के पार से हमें मोबाइल संचार के संकेत नहीं मिले हैं. इसका मतलब हताहत और नुकसान से है, पाकिस्तान सेना इसे सामने नहीं लाना चाहती.
Loading...

दुनिया को खुद पता चल जाएगा पाक को हुआ कितना नुकसान
बिपिन रावत ने कहा, 'मैं अभी सीमा पार हुए नुकसान के बारे में नहीं कहूंगा, क्योंकि दुनिया को पता चल जाएगा कि (पाकिस्तान ने) आतंकवादी कारनामों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया. पाकिस्तान इसे ढंकने की कोशिश कर रहा है. निश्चित तौर पर हमें सूचना मिलने पर हम आपको और तथ्य देंगे.’

army
पीओके में किए गए मिलिट्री ऑपरेशन में सेना के दो जवान शहीद हो गए.


रविवार को सेना ने पाक को दिया करारा जवाब
बता दें कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के तंगधार सेक्‍टर में पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से की जा रही फायरिंग (Firing) में दो भारतीय जवानों के शहीद होने के बाद भारतीय सेना ने पाक अधिकृत कश्मीर के आतंकी कैंपों (Terror Camps) पर रविवार को गोले बरसाए हैं. भारतीय सेना ने आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए आर्टिलरी गन से गोले दागे. बताया जा रहा है कि भारतीय सुरक्षा बलों की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में आतंकी संगठन जैश और हिजबुल के 35 आतंकियों के साथ 6-10 पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं. (PTI इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें:-

भारतीय सेना ने PoK में टेरर कैंप्स किए तबाह, जैश और हिजबुल के 35 आतंकी ढेर, 6 पाक सैनिक की भी मौत
PoK में टेरर कैंप्स तबाह होने से बौखलाया पाकिस्‍तान, भारतीय उच्चायुक्त को किया तलब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 7:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...