• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सोनिया गांधी की विपक्षी दलों संग बैठक, मिशन 2024 के लिए बना बड़ा प्लान, सपा और बसपा मीटिंग से नदारद

सोनिया गांधी की विपक्षी दलों संग बैठक, मिशन 2024 के लिए बना बड़ा प्लान, सपा और बसपा मीटिंग से नदारद

सोनिया गांधी के साथ बैठक में 15 से अधिक विपक्षी दलों के नेता मौजूद हैं. (एएनआई)

सोनिया गांधी के साथ बैठक में 15 से अधिक विपक्षी दलों के नेता मौजूद हैं. (एएनआई)

Sonia Gandhi Meeting: सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी देश के प्रमुख मुद्दों पर विपक्षी दलों को साथ लेकर सरकार को घेरने की कोशिश में हैं और इसी प्रयास के तहत यह बैठक बुलाई गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश के कई प्रमुख विपक्षी नेताओं के साथ डिजिटल बैठक में शुक्रवार को यह विश्वास जताया कि संसद के आने वाले सत्रों के दौरान भी विपक्ष की एकता कायम रहेगी. हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने इस बात के संकेत भी दिए कि बड़ी राजनीतिक लड़ाई संसद के बाहर लड़ी जानी है. उनके कहने का मतलब 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव से था.

उन्होंने कहा, ‘अंतिम लक्ष्य 2024 लोकसभा चुनाव है जिसके लिए व्यवस्थित तरीके से योजना बनानी होगी. ये एक चुनौती है, लेकिन हम मिल कर यह कर सकते हैं क्योंकि इसका कोई विकल्प नहीं है. सबकी अपनी मजबूरियां भी हैं, लेकिन राष्ट्र हित की मांग है कि हम सब अपने मजबूरियों से ऊपर उठें.’

बंगाल हिंसा: CBI ने शुरू की जांच, ममता बनर्जी सरकार से हत्या, बलात्कार के मामलों का मांगा ब्योरा

इस बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत 15 से अधिक पार्टियों के नेता शामिल थे. हैरान करने वाली बात यह रही कि इस बैठक में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की ओर से कोई भी शामिल नहीं हुआ.

शरद पवार हताशा में ‘आरक्षण’ पर केंद्र की आलोचना कर रहे : केंद्रीय मंत्री राणे

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी देश के प्रमुख मुद्दों पर विपक्षी दलों को साथ लेकर सरकार को घेरने की कोशिश में हैं और इसी प्रयास के तहत यह बैठक बुलाई गई थी. विपक्षी दल राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला करने के वास्ते एकजुट होने के लिए प्रयासरत हैं ताकि अगले लोकसभा चुनाव में विपक्ष की ओर से कड़ी चुनौती पेश की जा सके.

हाल ही में संपन्न हुए संसद के मानसून सत्र के दौरान पेगासस जासूसी विवाद, किसान आंदोलन और महंगाई के मुद्दों पर सरकार के खिलाफ विपक्षी एकजुटता देखने को मिली. इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी विपक्षी एकजुटता की पूरी कवायद के केंद्रबिंदु नजर आए. सोनिया गांधी ने यह बैठक पेगासस जासूसी विवाद और इसे लेकर संसद के हाल में संपन्न मानसून सत्र में हुए हंगामे को लेकर जारी आरोप-प्रत्यारोप के बीच बुलाई. (इनपुट भाषा से भी)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज