लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में पास, सोनिया गांधी ने इतिहास का काला दिन बताया

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 10:37 PM IST

नागरिकता संशोधन बिल 2019 (Citizenship Amendment Bil) के पास होने पर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अपना बयान जारी किया. उन्होंने लिखा, भारत के संवैधानिक इतिहास में ये काला दिन है. नागरिकता संशोधन बिल का पास होना भारत की विविधता पर संकीर्ण मानसिकता के लोगों की जीत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 10:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल 2019 (Citizenship Amendment Bil)  राज्यसभा में भी पास करा लिया. बिल के राज्यसभा में पास होने पर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने इसे भारत के इतिहास का काला दिन बताया. इस बिल के पेश होने के साथ ही कांग्रेस इसका जोरदार विरोध कर रही थी. हालांकि नंबर गेम में वह पहले लोकसभा और बाद में राज्यसभा में पिछड़ गई. बीजेडी, वाइएसआर और जेडीयू जैसे दलों का समर्थन मिलने से राज्यसभा में सरकार की राह आसान हो गई.

इस बिल के पास होने पर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अपना बयान जारी किया. उन्होंने लिखा, भारत के संवैधानिक इतिहास में ये काला दिन है. नागरिकता संशोधन बिल का पास होना भारत की विविधता पर संकीर्ण मानसिकता के लोगों की जीत है. ये आईडिया ऑफ इंडिया को चुनौती देता है. ये भारत को धर्म के आधार पर बांटने वाला है.



सोनिया गांधी ने अपने बयान में कहा, ये बिल न सिर्फ हमारे समानता के सिद्धांतों और धार्मिक समानता का अपमान है. ये उन चीजों का खारिज करता है, जिसके तहत हमारा संविधान नागरिकों को स्वतंत्रता के साथ जीने का अधिकार देता है. सोनिया गांधी ने कहा, हमारा देश हमेशा से ऐसा रहा है, जहां सभी देशों के हर धर्म के नागरिक को संरक्षण दिया गया है. हम अपने देश पर गर्व करने वाले लोग रहे हैं, जिसे कुछ असुरक्षित महसूस करने वाले लोग तोड़ नहीं सकते. हम एक स्वतंत्र भारत के लिए हमेशा दृढ़संकल्पित रहेंगे. ऐसा तभी होगा, जब हमारे लोग लिबरल रहेंगे.सोनिया गांधी ने कहा, 'विडंबना है कि बिल तब पास हुआ जब पूरी दुनिया महात्मा गांधी का 150वीं जयंती मना रही है. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मलाल के इस मौके पर कांग्रेस पार्टी कहना चाहती है कि वो बीजेपी की बंटवारे और धुव्रीकरण की राजनीति के खिलाफ लगातार पूरी शिद्दत के साथ लड़ती रहेगीं.''

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 9:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर