सोनिया गांधी ने कोविशील्ड कीमतों पर उठाए सवाल, PM मोदी से हस्तक्षेप करने की मांग

कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र (फाइल फोटो)

कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र (फाइल फोटो)

Covishield Prices: सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने पीएम मोदी से कहा है कि देश का मकसद यह सुनिश्चित करना होना चाहिए कि 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन दी जाए, चाहे उनकी आर्थिक स्थिति कैसी भी हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 2:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन (Covid Vaccine) लगने जा रही है. वहीं, कोविशील्ड बनाने वाली सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने वैक्सीन के दाम की भी घोषणा कर दी है. इस पर कांग्रेस (Congress) प्रमुख सोनिया गांधी ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने सरकार की नई वैक्सीन नीति पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने इस बात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को पत्र लिखा है. खबरें आई थीं कि वैक्सीन की दरों का ऐलान होने के बाद कई जगहों पर इसका विरोध किया जा रहा है.

सोनिया गांधी ने पीएम मोदी से कहा है कि देश का मकसद यह सुनिश्चित करना होना चाहिए कि 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन दी जाए, चाहे उनकी आर्थिक स्थिति कैसी भी हो. कांग्रेस नेता ने सरकार से मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है. साथ ही उन्होंने वैक्सीन की अलग-अलग कीमतों का कारण सरकार की नई वैक्सीन नीति को बताया है.

यह भी पढ़ें: 1 मई से वैक्सीन के लिए तैयार हो जाएं युवा, शनिवार से CoWin पर शुरू होगा रजिस्ट्रेशन

कांग्रेस नेता ने पत्र में लिखा, 'इस नीति के परिणामस्वरूप वैक्सीन निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अलग-अलग दामों की घोषणा की.' सीरम इंस्टीट्यूट की तरफ से जारी की गई कीमतों के अनुसार, केंद्र सरकार को एक डोज 150 रुपये में मिलेगी. जबकि, राज्य सरकार के लिए यह दर 400 रुपये और निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपये प्रति डोज है. सोनिया ने कहा कि इससे नागरिक ज्यादा कीमत चुकाने को मजबूर हो जाएंगे और राज्य सरकारों पर भी वित्तीय मार पड़ेगी. उन्होंने वैक्सीन की अलग-अलग कीमतों पर सवाल उठाए हैं.


कांग्रेस नेता के पत्र के अनुसार, कांग्रेस पार्टी ने इस नीति के दोबारा आकलन किए जाने की मांग की है. साथ ही कांग्रेस ने ट्वीट के जरिए भारतीय जनता पार्टी पर अहंकार के आरोप लगाए हैं और साथ मिलकर काम करने की सलाह दी है. पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, 'देश को संकट के दौर से निकालने के लिए सत्ताधारी दल की प्राथमिकता विपक्ष से समाधान आमंत्रित करने की होनी चाहिए. हम आपसी तालमेल के साथ नीति निर्धारण कर इस संकट से निकलेंगे. भाजपा अपने सियासी अंहकार को त्याग कर विपक्ष के सुझावों को मानें.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज