सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, ब्लैक फंगस पर 'तत्काल कार्रवाई' की मांग

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने म्यूकरमाइकोसिस मामले पर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने म्यूकरमाइकोसिस मामले पर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. (फाइल फोटो)

Sonia Gandhi Writes to PM Narendra Modi: कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा, 'मैं समझती हूं कि इसकी दवा लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बेहद जरूर है. हालांकि, बाजार में इसकी कमी की खबरें हैं.' इस पत्र में गांधी ने बीमारी को आयुष्मान योजना में शामिल करने के लिए कहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने म्यूकरमाइकोसिस (Mucormycosis) के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. उन्होंने इस पत्र के जरिए पीएम मोदी से इस फंगल इंफेक्शन (Fungal Infection) की दवा और इंजेक्शन की सप्लाई को सुनिश्चित करने के लिए कहा है. लोगों को अपना शिकार बना रहे इस संक्रमण के ज्यादातर मरीज कोविड-19 (Covid-19) से उबर चुके लोग हैं. इसे आम भाषा में ब्लैक फंगस भी कहा जा रहा है.

शनिवार को पीएम मोदी के नाम लिखे पत्र में सोनिया गांधी ने लिखा कि केंद्र ने राज्यों से म्यूकरमाइकोसिस को महामारी घोषित करने के लिए कहा है, लेकिन इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा का पर्याप्त उत्पादन और आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने म्यूकरमाइकोसिस से जूझ रहे मरीजों के मुफ्त इलाज की बात कही है. केंद्र ने राज्यों से इस संक्रमण को महामारी अधिनियम के तहत अधिसूचित बीमारी घोषित करने के लिए कहा था.

कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा, 'मैं समझती हूं कि इसकी दवा लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बेहद जरूर है. हालांकि, बाजार में इसकी कमी की खबरें हैं.' इस पत्र में गांधी ने बीमारी को आयुष्मान योजना में शामिल करने के लिए कहा है. उन्होंने लिखा, 'इसका इलाज आयुष्मान भारत और अन्य योजनाओं में शामिल नहीं है. मैं इस मामले में तत्काल कदम उठाने का निवेदनकरती हूं.'

यह भी पढ़ें: सोनिया गांधी ने PM मोदी से कहा- कोरोना में माता-पिता खो चुके बच्चों को नवोदय विद्यालयों में मिले शिक्षा
कई राज्यों में दवा की कमी

भारत के कई राज्य ब्लैक फंगस की दवा की कमी का सामना कर रहे हैं. बीते कुछ दिनों में राजधानी दिल्ली, महाराष्ट्र और गुजरात समेत कई प्रदेशों से सप्लाई बढ़ाने की मांग की गई है. महाराष्ट्र में इस दुर्लभ संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले बताए जा रहे हैं. मीडिया रिपोर्स के मुताबिक, देश में ब्लैक फंगस के करीब 9 हजार मामले सामने आ चुके हैं.




क्या है म्यूकरमाइकोसिस?

अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, म्यूकरमाइकोसिस एक गंभीर, लेकिन दुर्लभ संक्रमण है. इसका मुख्य कारण म्यूकरमाइसीट्स नाम के मोल्ड्स के समूह से होता है. ये मोल्ड्स पूरे पर्यावरण में रहते हैं. ये बीमारी आमतौर पर उन लोगों को अपनी जकड़ में लेती है, जो ऐसी दवाएं ले रहे हैं, जो जर्म्स और बीमारियों से लड़ने की शरीर की क्षमता को कम करती हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज