सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को फिर पत्र लिखकर की अपील-सितंबर 2020 तक दें फ्री राशन

सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को फिर पत्र लिखकर की अपील-सितंबर 2020 तक दें फ्री राशन
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की फाइल फोटो

कांग्रेस पार्टी (Congress Party) की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) इससे पहले भी लॉकडाउन के बाद बाद की परिस्थिति के सवालों को पत्र के माध्यम से उठा चुकी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 23, 2020, 12:08 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस पार्टी (Congress Party) की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने पत्र लिखकर पीएम मोदी (PM Modi) से मुफ्त में दिए जा रहे राशन की अवधि को तीन महीने और बढ़ाकर सितंबर, 2020 तक करने की गुजारिश की है. लॉकडाउन (Lockdown) की शुरुआत में दी गई अन्य सुविधाओं के साथ, नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट (National Food Security Act) के तहत अप्रैल-जून, 2020 तक प्रत्येक परिवार (Per Family) को प्रति व्यक्ति, प्रति माह 5 किलो अनाज देने की बात कही गई थी.

सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अपने पत्र में लिखा है, "मैं आशा करती हूं कि पत्र मिलते समय आप अच्छे होंगे. देश भर में कड़े लॉकडाउन (Strict Lockdown) को लगाए हुए करीब तीन महीने हो चुके हैं, लाखों भारतीयों के गरीबी (रेखा के नीचे) चले जाने का डर है. हमारे शहरी और ग्रामीण दोनों ही इलाकों के गरीबों के जीवनयापन पर इसका बुरा प्रभाव भीषण खाद्य असुरक्षा के रूप में पड़ा है. वर्तमान परिस्थितियों की रौशनी में, हमारे देश के सबसे कमजोर वर्ग से आने वाले कुछ लोगों की भूख की समस्या से निपटने के लिए खाद्य वस्तुओं के दिए जाने (की अवधि) को अवश्य बढ़ाया जाना चाहिए."

सभी परिवारों को अस्थायी राशन कार्ड भी जारी किए जाने चाहिए
सोनिया गांधी ने अपने पत्र में आगे लिखा, "लॉकडाउन की शुरुआत में दी गई अन्य सुविधाओं के साथ, नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट (National Food Security Act) के तहत अप्रैल-जून, 2020 तक प्रत्येक परिवार को प्रति व्यक्ति, प्रति माह 5 किलो अनाज देने की बात कही गई थी. इसके अलावा सरकार ने प्रवासियों को भी मई और जून के महीने के लिए प्रति व्यक्ति, प्रति माह 5 किलो अनाज देने अनाज उपलब्ध कराने की बात कही थी, जो ऐसे लोगों के लिए थी, जो किसी भी केंद्र या राज्य की PDS स्कीम के अंतर्गत नहीं आते थे. केंद्र सरकार को आगे के तीन महीनों के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरण के प्रावधानों को बढ़ाए जाने पर विचार करना चाहिए. कई राज्यों ने भी ऐसी ही गुजारिश की है. आगे क्योंकि कई गरीब परिवारों का पीडीएस सिस्टम (PDS System) से अलग रहना जारी रहेगा, ऐसे में सभी परिवारों के लिए अस्थायी राशन कार्ड जारी किए जाने चाहिए."





यह भी पढ़ें: सैनिकों की शहादत के बाद सेना कमांडरों ने की LAC पर भारत की स्थिति की समीक्षा

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने अपने पत्र में यह भी लिखा है कि केंद्र सरकार (Central Government) ऊपर सुझाई गई सलाहों पर ध्यान देंगे और इस पर नतीजे की जल्द से जल्द घोषणा करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज