Home /News /nation /

गले में खराश, कमजोरी और शरीर में दर्द: ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों में इस तरह के दिख रहे अलग लक्षण

गले में खराश, कमजोरी और शरीर में दर्द: ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों में इस तरह के दिख रहे अलग लक्षण

भारत में ओमिक्रॉन का पहला मामला  एक 66 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी नागरिक का था.(फाइल फोटो)

भारत में ओमिक्रॉन का पहला मामला एक 66 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी नागरिक का था.(फाइल फोटो)

Omicron Infected Patient symptoms: ओमिक्रॉन को लेकर अभी दुनिया भर में रिसर्च चल रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के पास भी इस वेरिएंट को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं है. अभी शोध प्रारंभिक अवस्था में है और इस वायरस (Omicron Virus) को लेकर डिटेल जानकारी आने में अभी करीब दो सप्ताह का समय लग सकता है. हालांकि इस बीच भारत और अन्य देशों से सामने आए मामलों से ऐसा प्रतीत होता है कि ओमिक्रॉन के लक्षण सामान्य सर्दी की तरह है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: रविवार को तंजानिया से भारत लौटेने वाला एक यात्री कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Covid-19 New Variant Omicron) से संक्रमित पाया गया. यह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का पहला और देश का पांचवा ओमिक्रॉन (India Omicron Cases) का मामला था. दुनिया भर में ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन इस बीच राहत की बात यह है कि भारत समेत अलग अलग देशों से सामने आए केसेस में कोई भी मामला गंभीर नहीं है. सभी में सामान्य और हल्के लक्षण (Mild Symptoms) हैं. तंजानिया से लौटे शख्स को एलएनजेपी अस्पताल (LNJP Hospital) में भर्ती कराया गया है. एलएनजेपी एमपी डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि 37 वर्षीय व्यक्ति को 2 दिसंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय उसे गले में खराश, कमजोरी और शरीर में दर्द की समस्या थी.

    दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर्स जिन्होने पहले ओमिक्रॉन मरीज का इलाज किया था, ने कहा कि वेरिएंट अब कोविड के पिछले वेरिएंट से अलग लक्षण (Omicron Symptoms) पैदा कर रहा है. उन्होंने कहा की 17 अन्य कोविड-19 मरीज जो कि एलएनजेपी में भर्ती है जिसमें से छह मरीज एसैम्पटोमैटिक (asymptomatic) लक्षण के मरीज हैं.

    मरीजों में ओमिक्रॉन के लक्षण
    ओमिक्रॉन को लेकर अभी दुनिया भर में रिसर्च चल रही है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के पास भी इस वेरिएंट को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं है. अभी शोध प्रारंभिक अवस्था में है और इस वायरस को लेकर डिटेल जानकारी आने में अभी करीब दो सप्ताह का समय लग सकता है. हालांकि इस बीच भारत और अन्य देशों से सामने आए मामलों से ऐसा प्रतीत होता है कि ओमिक्रॉन के लक्षण सामान्य सर्दी की तरह है. इसमें भी कोविड-19 की तरह ही सर्दी, जुकाम, खराश के लक्षण प्रतीत होते हैं.

    यह भी पढ़ें- Omicron in Tamil Nadu: सिंगापुर से लौटा यात्री मिला कोविड संक्रमित, फिलहाल ओमिक्रॉन की पुष्टि नहीं

     दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर ने कही ये बात

    दक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की चेयरपर्सन एंजेलिक कोएत्ज़ी, जिन्होंने सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका सरकार को नए संस्करण के बारे में दुनिया को सचेत किया, कोएत्जी ने ओमिक्रॉन द्वारा दिखाई गए अपरिचित लक्षण जो पहले किसी वेरिएंट में नहीं दिखे उसके बारे में जानकारी दी थी. वैज्ञानिकों का कहना है कि यह नई विशेषता वायरस के उत्परिवर्तन के कारण हो सकती है. वैज्ञानिकों का मनना है कि इसन उत्परिवर्तन के समय एक दूसरे वायरस से जेनेटिक मैटेरियल का टुकड़ा उठाया हो. माना जा रहा है कि यह एक सामान्य सर्दी का वायरस भी हो सकता है.

    टाटा इंस्टीट्यूट फॉर जेनेटिक्स एंड सोसाइटी के निदेशक और काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च-सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी के पूर्व प्रमुख, डॉ राकेश मिश्रा ने कहा कि लोग इस वायरस को एक सामान्य सर्दी का वायरस समझ कर जांच कराने से चूक जाते हैं और यह वायरस के प्रसार का एक बड़ा कारण बनाता है. उन्होंने कहा कि इसमें किसी तरह के सांस लेने या फिर गंध या फिर स्वाद में कमी का एहसास नहीं होता इसलिए ज्यादातर लोग इसे एक सामान्य सर्दी का वायरस मान रहे हैं.

    लगभग 5 ओमिक्रॉन संक्रमित रोगी
    भारत में कोविड के नए वेरिएंटा ओमिक्रॉन का पहला मामला एक 66 वर्षीय दक्षिण अफ्रीकी नागरिक का था, जिसे एक निजी लैब से एक नकारात्मक कोविड-19 रिपोर्ट प्रदान करने के बाद देश छोड़ दिया था. रोगी ने पहले 20 नवंबर को सकारात्मक परीक्षण किया, और तीन दिन बाद जब दोबारा टेस्ट किया गया तो उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी.

    भारत में ओमिक्रॉन का दूसरा मामला 46 वर्षीय डॉक्टर का है, जिनका अंतरराष्ट्रीय यात्रा का कोई इतिहास नहीं है. 21 नवंबर को डॉक्टर ने हल्के लक्षणों की सूचना दी जिसके बाद उनका टेस्ट किया गया और सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया था बाद मे उनकी रिपोर्ट में ओमिक्रॉन संक्रमण की पुष्टि हुई थी.

    भारत में तीसरा ओमिक्रॉन का मामला जिम्बाब्वे के एक 72 वर्षीय व्यक्ति का है जो गुजरात के जामनगर पहुंचा था. लक्षणों की बात करें तो 72 वर्षीय व्यक्ति के गले में खराश और कमजोरी थी.

    33 वर्षीय समुद्री इंजीनियर देश में ओमिक्रॉन का चौथा केस था. कल्याण डोंबिवली नगर निगम के एक अधिकारी के अनुसार, उसे टीका नहीं लगाया गया था क्योंकि वह अप्रैल से जहाज पर था. डॉक्टर्स की मानें तो 24 नवंबर को उन्हें हल्का की समस्या आई थी जिसके बाद उनका टेस्ट किया गया जिसमें नए वेरिएंट के संक्रमण की पुष्टि हुई.

    देश में ओमिक्रॉन का सबसे ताजा मामला एक 37 वर्षीय व्यक्ति है जो तंजानिया से दिल्ली पहुंचा, जो राष्ट्रीय राजधानी में नए COVID-19 के नए संस्करण का पहला मामला बना. एक डॉक्टर ने कहा, उन्हें दो दिसंबर को गले में खराश, बुखार और शरीर में दर्द के हल्के लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

    Tags: Corona vaccination, Covid19, Omicron

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर