पुलवामा हमले के बाद मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने की प्रक्रिया हुई थी शुरू : सूत्र

पुलवामा हमले के बाद मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने की प्रक्रिया हुई थी शुरू : सूत्र
UNSC कमेटी की ओर से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को सूचीबद्ध करने के लिए और सबूत भी दिए गए.

UNSC कमेटी की ओर से जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को सूचीबद्ध करने के लिए और सबूत भी दिए गए.

  • Share this:
जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के पीछे 14 फरवरी को हुए पुलवामा आतंकी हमले का बड़ा हाथ था. समाचार एजेंसी ANI के अनुसार सूत्रों ने यह जानकारी दी. सूत्रों ने कहा कि मसूद अजहर को बतौर वैश्विक आतंकी सूचीबद्ध करने की पूरी प्रक्रिया पुलवामा हमले के बाद शुरू हुई. ऐसे में यह स्वाभाविक है कि पुलवामा हमले के तार इससे जुड़े हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद (UNSC) ने एक कड़ा बयान जारी किया है. भारत इस स्थिति में था कि वह पर्याप्त सबूत दे सके.

सूत्रों की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार UNSC कमेटी की ओर से मसूद अजहर को सूचीबद्ध करने के लिए और सबूत भी दिए गए. अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर तकनीकी कारणों से रोक लगाई गई. अजहर के संबंध में सामूहिक सबूत दिये गए जिसके बाद कमेटी सहमत हुई.

यह भी पढ़ें:  पाकिस्तानी मीडिया ने कहा- मसूद सरीखे हर आतंकी को सख्ती से कुचला जाए



बुधवार को मसूद घोषित हुआ वैश्विक आतंकी
जैश-ए-मोहम्मद संगठन के सरगना मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बुधवार को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया. इससे पहले चीन मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के प्रयास में कई बार रोड़ा अटका चुका था. गौरतलब है कि मसूद अज़हर के संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इसी साल 14 फरवरी को पुलवामा में सेना के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी. इस हमले में CRPF के 40 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई थीं.



यह भी पढ़ें : मसूद अजहर को पाकिस्तान से भी झटका, संपत्ति जब्त करने का आदेश, यात्रा पर भी लगाया बैन

UNSC के फैसले के बाद पाकिस्तान ने भी अजहर पर प्रतिबंध लगाए हैं. पाक की ओर से लगाए गए प्रतिबंध में अजहर की संपत्ति, यात्रा पर रोक के साथ हथियारों की खरीद पर भी रोक शामिल है. पाक के आदेश में कहा गया है कि मसूद अजहर से जुड़ी हुई सभी संपत्तियों, आर्थिक और वित्तीय संसाधनों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी जाए.

पाक की ओर से लगाई गई रोक व्यक्तिगत, सामूहिक और अंडरटेकिंग्स पर एक साथ लागू होगी. इस आदेश में किसी दूसरे देश में मसूद को शरण देने पर रोक लागू होगी. मसूद अजहर को कोर्ट की कार्रवाई के लिए पाकिस्तान में आने-जाने पर रोक नहीं लगेगी.

यह भी पढ़ें:  मसूद अजहर मामले के हीरो का खुलासा- धोनी की इस बात ने उन्‍हें दिलाई कामयाबी!
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading