हरियाणा विधानसभा चुनाव में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए हो रहे ये खास इंतजाम

Manoj Kumar | News18 Haryana
Updated: September 12, 2019, 9:13 AM IST
हरियाणा विधानसभा चुनाव में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए हो रहे ये खास इंतजाम
हरियाणा विधानसभा चुनाव की तैयारियों की चुनाव आयोग ने की समीक्षा

इसी साल होने जा रहे हरियाणा विधानसभा चुनाव के दौरान मतदान में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए खास इंतजाम किए जा रहे हैं. चुनाव आयोग की तैयारियों की समीक्षा बैठक में इस बारे में निर्देश दिए गए.

  • Share this:
चंडीगढ़. भारत निर्वाचन आयोग (election commission of India) के निर्देशानुसार हरियाणा (Haryana) में होने जा रहे विधानसभा चुनाव(Assembly election) के दौरान मतदान में महिलाओं की भागीदारी (women's participation) बढ़ाने के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में कम से कम एक महिला मतदान केंद्र और दो आदर्श मतदान केंद्र बनाए जाएंगे. इस बारे में भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ उप-निर्वाचन आयुक्त संदीप सक्सेना ने विधानसभा चुनाव के लिए तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए निर्देश दिए. इस बैठक में राज्य के पुलिस आयुक्त के अलावा सभी उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधीक्षक और मण्डलायुक्त उपस्थित थे. भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ उप-निर्वाचन आयुक्त संदीप सक्सेना ने हरियाणा विधानसभा, 2019 के आम चुनावों के लिए तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि विधानसभा चुनावों को निष्पक्षता के साथ आयोजित कराएं और इसके लिए अपने संबंधित जिला के लिए एक कारगर योजना तैयार करें.

मॉक पोल के दौरान होने वाली गलतियां साधारण होकर भी गंभीर 

वरिष्ठ उप-निर्वाचन आयुक्त सक्सेना ने कहा कि गत 14 अगस्त को भारत निर्वाचन आयोग की ओर से बैठक की गई थी, जिसमें कुछ बिंदुओं पर चर्चा की गई थी, जिसके परिणामस्वरूप चुनाव की तैयारियों में काफी सुधार आया. सक्सेना ने बताया कि चुनावों में नियुक्त कर्मियों व अधिकारियों का प्रशिक्षण सही तरह से होना चाहिए, क्योंकि आमतौर पर मॉक पोल के दौरान कुछ गलतियां रह जाती हैं. ये साधारण गलतियां हैं, लेकिन गंभीर हैं. उन्होंने कहा कि ईवीएम और वीवीपैट मशीनों का वितरण सही तरह से होना चाहिए. यह एक संवेदनशील मामला है. चुनाव के दौरान राज्य में कानून-व्यवस्था नियंत्रण में हो और इसके लिए एसएचओ स्तर तक जिम्मेदारी दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों के साथ लगते जिलों में अवैध नकदी व शराब की सप्लाई को रोकने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए. चुनावों के दौरान किसी भी प्रकार का प्रलोभन या नकदी नहीं बंटे इसके लिए आबकारी और आयकर विभाग की टीम को चौकस रहना चाहिए.

बैठक के बाद सीनियर डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर संदीप सक्सेना ने मीडिया को चुनाव की तैयारियों के बारे में बताया


उप-निर्वाचन आयुक्त ने ईवीएम के रखरखाव के लिए दिए उपायुक्तों को दिशा-निर्देश

उप-निर्वाचन आयुक्त सुदीप जैन ने ईवीएम के रखरखाव के संबंध में उपायुक्तों एवं पुलिस अधीक्षकों को दिशा-निर्देश दिए. महानिदेशक ( चुनाव खर्च) दिलीप शर्मा ने बैठक के दौरान प्रलोभन जैसी बातों को रोकने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए और कहा कि काले धन को चुनावों के दौरान रोकना है. इसके लिए जिला प्रशासन उडऩदस्तों का गठन करेगा और ये उडऩदस्ते अवैध धन के वितरण पर रोक लगाएंगे. बैठक के दौरान भारत निर्वाचन आयोग से आए हुए अधिकारियों ने जिलावार सम्बन्धित जिला निर्वाचन अधिकारियों व पुलिस के अधिकारियों से अपने-अपने जिले में आने वाले विधानसभा चुनावों के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी ली और उनसे सुझाव भी मांगे.

ये भी पढ़ें- हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष बनीं कुमारी शैलजा तो नाराज हुए ये दिग्गज नेता
Loading...

510 प्राइवेट बसों के टेंडर रद्द करने का फैसला वापस लेने पर भड़के रोडवेजकर्मी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 8:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...