विशेष विमान से अयोध्या पहुंचेंगे मध्यस्थ, बातचीत के लिए तैयार हुआ मिनी सेक्रेटेरियेट

माना जा रहा है कि पैनल के सदस्य अयोध्या में तीन दिन तक रुकेंगे. तीन दिनों की बातचीत के आधार पर आगे का कार्यक्रम तय किया जाएगा. यह पैनल इस मामले के पक्षकारों से भी बातचीत करेगा.

News18Hindi
Updated: March 11, 2019, 10:41 PM IST
विशेष विमान से अयोध्या पहुंचेंगे मध्यस्थ, बातचीत के लिए तैयार हुआ मिनी सेक्रेटेरियेट
नेटवर्क 18 क्रिएटिव
News18Hindi
Updated: March 11, 2019, 10:41 PM IST
प्रांशु मिश्रा

बाबरी मस्जिद-राम जन्म भूमि विवाद के समाधान के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता के लिए तीन सदस्यीय टीम नियुक्त की है. यह टीम मंगलवार को विशेष विमान से अयोध्या पहुंचेगी और इस विवाद पर बातचीत से हल निकालने की कोशिश करेगी. मध्यस्थों के दल की सहूलियत के लिए राज्य शासन के आदेश पर जिला प्रशासन ने अयोध्या स्थित अवध यूनिवर्सिटी परिसर में मिनी सेक्रेटेरियेट भी तैयार कर दिया है.



इस मिनी सेक्रेटेरियेट में मध्यस्थों के रुकने की व्यवस्था है, साथ ही उनकी बातचीत के लिए अलग कमरा तैयार किया गया है.

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में आदेश दिया था कि मध्यस्थता की पूरी बातचीत गोपनीय होनी चाहिए. सरकार और स्थानीय प्रशासन ने इस संबंध में सभी तैयारियां कर ली है. मध्यस्थों के कार्यक्रम या उनके आने-जाने के समय को सार्वजनिक नहीं किया गया है.

अयोध्या विवाद: मुस्लिम पक्षकारों की कल लखनऊ में बैठक

हालांकि, सूत्रों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए तीनों मध्यस्थ मंगलवार सुबह 11 बजे विशेष विमान से अयोध्या पहुंचेंगे. सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एफएमआई कलिफुला, वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीराम पांचू और आध्यामिक गुरु श्री श्री रविशंकर को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की मध्यस्थता के लिए चुना है.

उच्च स्तरीय सूत्रों ने न्यूज 18 को बताया कि बैठक और मध्यस्थों के रुकने के लिए यूनिवर्सिटी के इंजीनियंरिंग डिपार्टमेंट के गेस्ट हाउस को चुना गया है.फिलहाल एक हिंदी और एक इंग्लिश टाइपिस्ट को इस पैनल के साथ काम करने के लिए असाइन किया गया है. सूत्रों का कहना है कि मध्यस्थ अपने साथ भी जरूरी स्टाफ लेकर अयोध्या पहुंच रहे हैं. व्यवस्था की देखरेख कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “मध्यस्थों के अयोध्या पहुंचने के बाद उन्हें अगर किसी स्टाफ या अन्य चीज की जरूरत पड़ी तो हम उन्हें वह उपलब्ध कराएंगे.”

अयोध्या विवादः मध्यस्थता पैनल के फैसले से नहीं बनी बात तो क्या है रास्ता, जानिए सबकुछ

इस बीच, यूनिवर्सिटी के इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट गेस्ट हाउस के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. यहां यूनिवर्सिटी स्टाफ और मीडियाकर्मियों को जाने की अनुमति नहीं होगी.

माना जा रहा है कि पैनल के सदस्य अयोध्या में तीन दिन तक रुकेंगे. तीन दिनों की बातचीत के आधार पर आगे का कार्यक्रम तय किया जाएगा. यह पैनल इस मामले के पक्षकारों से भी बातचीत करेगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार