NIA कोर्ट ने दी इजाजत, विधायक पद की शपथ ले सकते हैं जेल में बंद अखिल गोगोई

सामाजिक कार्यकर्ता अखिल गोगोई करीब एक साल से जेल में बंद हैं.

सामाजिक कार्यकर्ता अखिल गोगोई करीब एक साल से जेल में बंद हैं.

अखिल गोगोई (Akhil Gogoi) असम की शिवसागर विधानसभा सीट चुनाव जीते हैं. उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी सुरभि राजकुंवर को चुनाव हराया था.

  • Share this:

गुवाहाटी. जेल में बंद सीएए विरोधी सामाजिक कार्यकर्ता अखिल गोगोई (Akhil Gogoi) को एनआईए कोर्ट (NIA Court) ने विधायक पद की शपथ लेने की छूट दे दी है. गोगोई असम की शिवसागर विधानसभा सीट (Sibsagar Assembly Constituency) से चुनाव जीते हैं. उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी सुरभि राजकुंवर को चुनाव हराया था. इस सीट पर एनसीपी के अजित हजारिका और कांग्रेस शुभमित्र गोगोई भी चुनाव मैदान में थे.

गोगोई, असम में किसानों के नेता माने जाते रहे हैं. 1 साल से ज्यादा वक्त से जेल में बंद गोगोई को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने राजद्रोह और यूएपीए के मामले के तहत नागरिकता संशोधन अधियनम के खिलाफ आंदोलन में उनकी भूमिका के बाद गिरफ्तार किया था.

इस विधानसभा चुनाव में गोगोई ने रायजोर दल का गठन किया. रायजोर दल ने दावा किया था कि वह आत्मनिर्भर असम के लिए चुनाव लड़ रहा है. शिवसागर पुलिस ने उन्हें गुवाहाटी जेल से हिंसक प्रदर्शन और शिवसागर में अवैध रूप से लोगों को इकठ्ठा करने के लिए गिरफ्तार किया था. इस नेता के खिलाफ नागरिकता क़ानून के विरोध में प्रदर्शन के दौरान अनेक मामले दर्ज किये गए हैं इसलिए उनके जेल में रहने से कई लोगों ने इसमें साजिश की आशंका व्यक्त की थी.

कांग्रेस सरकार के दौरान भी गिरफ्तार किए जा चुके हैं गोगोई
गोगोई को इससे पहले भी कांग्रेस सरकार के दौरान भी गिरफ्तार किया जा चुका है. वह असम में बांध और जमीन के मुद्दों पर सरकार का विरोध करते रहे हैं. इस साल फरवरी में एक अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज