लाइव टीवी

स्किल मंत्रालय ने संवारा बेसहारों व ग़रीब लड़कियों का भविष्य

News18India
Updated: October 7, 2019, 4:54 PM IST
स्किल मंत्रालय ने संवारा बेसहारों व ग़रीब लड़कियों का भविष्य
झारखंड स्टाफ सेलेक्शन कमीशन में नौकरी का मौका.

स्किल मंत्रालय ने संवारा बेसहारों व ग़रीब लड़कियों का भविष्य

  • News18India
  • Last Updated: October 7, 2019, 4:54 PM IST
  • Share this:
अभी हाल ही में स्किल मंत्रालय के अंतर्गत एनएसडीसी के प्रशिक्षण केंद्र ऑरियन एडुटेक के द्वारा 5 लोगों का चयन किया. सभी पांचों उम्मीदवारों की आर्थिक स्थिति काफ़ी दयनीय थी. इनके परिजनों के पास इतने पैसे नहीं थे कि ये अपने सपनों को पंख लगा सके.  5 उम्मीदवारों में से 3 उम्मीदवार पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के रहने वाली हैं.

ये तीनों लड़कियां पॉलिना लाकरा, सबिता लाकरा और बिनामती मिंज, जलपाईगुरु के सुदूर क्षेत्र की रहने वाली हैं. इन तीनों का चयन मारिशस में आरटी नाइट्स नाम की कंपनी में सिलाई मशीन ऑपरेटर के तौर पर हुआ है।ये इनके लिए किसी सपने से कम नहीं है.
पॉलिना और सविता दोनों सगी बहन है. इनके पापा की मौत के बाद घर की ज़िम्मेदारी इनके मां के कंधों पर आ गई. इनकी मां चाय बगान में एक मज़दूर हैं। महीने के 4000 रुपये मिलते हैं । ऐसे में घर का ख़र्च, पढ़ाई-लिखाई बहुत मुश्किल से हो पा रही थी. समय के साथ-साथ मां भी बुढ़ी हो रही थीं. ऐसे में दोनों बहनों की नौकरी लग गई, जो एक सपने से कम नहीं है. अब दोनों की सैलरी 22000 रुपये है. अब दोनों आराम से अपने घर और मां की ज़िम्मेदारी निभा सकती हैं.
बिनामती मिंज के घर की आर्थिक स्थिति बहुत ही ख़राब होने के कारण घरवालों ने उसकी पढ़ाई बीच में ही रोक दी. उनके घरवाले 7 हज़ार रुपये कमाते हैं. ऐसे में बिनामती के लिए एक चैलेंज बन गया था कि वो आगे कि पढ़ाई कैसे करे?

विषम परिस्थितियों में भी बिनामती मिंज ने आस नहीं छोड़ी. मिंज ने केंद्र सरकार के द्वारा मुफ़्त में मुहैया कराई जा रही स्किल प्रशिक्षण में जाने का फ़ैसला लिया और अंततः उन्हें मारिशस की बड़ी कम्पनी में बतौर सिलाई मशीन ऑपरेटर नौकरी मिली है. इस नौकरी में बिनामती को 22000 रुपये सैलरी के तौर पर मिलेंगे. बिनामती ने अपने सपनों को अपनी मुठ्ठी में भर लिया है.

दो ऐसे ही युवाओं की कहानी है. सौरव विश्वास और सुकंता सरकार, दोनों को इसी कम्पनी में फील्ड टेक्नीशियन के तौर पर नौकरी मिली है. इन दोनों को बतौर सैलरी 20 हज़ार रुपये मिलेंगे. सौरव और सुकंता, दोनों गरीब परिवार से आते हैं. ऐसे में इनकी नौकरी लगने से इनके परिवार को भी राहत मिलेगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 19, 2019, 11:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर