• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • स्पुतनिक V ने किया वैक्सीन कॉकटेल का समर्थन, कहा- टेस्टिंग के लिए साथ आएं वैक्सीन निर्माता

स्पुतनिक V ने किया वैक्सीन कॉकटेल का समर्थन, कहा- टेस्टिंग के लिए साथ आएं वैक्सीन निर्माता

रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन स्पुतनिक-V. (फाइल फोटो)

रूस की कोरोना वायरस वैक्सीन स्पुतनिक-V. (फाइल फोटो)

Covid-19 Vaccine Cocktail: स्पुतनिक V वैक्सीन दो एडिनोवायरस के संयोजन का उपयोग करके तैयार किया गया है. स्पुतनिक V ने एस्ट्राजेनेका को टीकों के मिश्रण पर प्रभावकारिता की जांच के लिए क्लीनिकल ट्रायल के लिए Ad26 शॉट की पेशकश की थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. रूसी वैक्सीन स्पुतनिक V (Russian Vaccine Sputnik V) के निर्माताओं ने गुरुवार को अन्य निर्माताओं से कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) कॉकटेल बनाने के लिए सहयोग देने का आग्रह किया. रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने कहा कि उसने फरवरी में एस्ट्राजेनेका के साथ "मिक्स एंड मैच" परीक्षण शुरू किया था और मिश्रण के बाद टीकों की प्रभावकारिता का परीक्षण करने के लिए जल्द ही और अधिक सहयोग की घोषणा करेगा.

    स्पुतनिक V वैक्सीन दो एडिनोवायरस के संयोजन का उपयोग करके तैयार किया गया है. स्पुतनिक V ने एस्ट्राजेनेका को टीकों के मिश्रण पर प्रभावकारिता की जांच के लिए क्लीनिकल ट्रायल के लिए Ad26 शॉट की पेशकश की थी. आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दिमित्रीव ने मंगलवार को कहा कि "हम जुलाई के अंत तक स्पुतनिक V और एस्ट्राजेनेका मिक्स एंड मैच के परिणाम जारी करने की उम्मीद करते हैं." शुरुआत में स्पुतनिक V ने वास्तव में इस दृष्टिकोण का बीड़ा उठाया है.

    आरडीआईएफ ने कहा कि रूस में 5 दिसंबर, 2020 से 31 मार्च, 2021 तक स्पुतनिक V की दोनों खुराकें लेने वाले लोगों के बीच कोरोनोवायरस संक्रमण दर के आंकड़ों के विश्लेषण के मुताबिक स्पुतनिक V 97.6 प्रतिशत असरदार है.

    गामालेया केंद्र नए वेरिएंट के खिलाफ स्पुतनिक V के असर तक पहुंचने के लिए SARS-CoV-2 के उभरते हुए रूपों का भी अध्ययन कर रहा है क्योंकि वायरस अभी भी दुनिया के विभिन्न हिस्सों में विकसित हो रहा है.

    WHO ने कही है ये बात
    विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस पर सावधानी बरतने का आग्रह किया है, हालांकि कई परीक्षणों के जरिए 'मिक्सिंग एंड मैचिंग' कोविड वैक्सीन के फायदों को पता लगाने की कोशिश की जा रही है. डब्ल्यूएचओ की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने वैज्ञानिक साक्ष्य पर आधारित किसी भी रणनीति को "खतरनाक प्रवृत्ति" करार दिया है. उन्होंने कहा, "जहां तक 'मिक्स-एंड-मैच' का सवाल है, हम डेटा-मुक्त, साक्ष्य-मुक्त क्षेत्र में हैं."

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज