स्पुतनिक-V जल्‍द लाएगा कोरोना का बूस्‍टर शॉट, डेल्‍टा वैरियंट के खिलाफ है कारगर

कोविड-19 के इलाज को लेकर एक और सफलता. (सांकेतिक तस्वीर)

Sputnik-V: स्पुतनिक V पहली कोविड वैक्सीन कॉकटेल है जिसे गामालेया सेंटर ने अप्रैल 2020 में तैयार किया था. इसमें दोनों बूस्ट शॉट्स विषमता लिए हुए होते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. जैसे जैसे कोविड-19 वायरस अपने रूप बदल रहा है, वैसे वैसे वैज्ञानिक भी उसे मात देने में लगे हुए हैं. कभी ना हार मानने की इस इंसानी फितरत की बदौलत ही इतने कम समय में दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने वैक्सीन तैयार कर दी, जो कोरोना वायरस पर काफी प्रभावी है. इसी चरण में एक सफलता और मिली है. स्पुतनिक V जल्दी ही अपना बूस्टर शॉट लाएगा, जो कोरोना वायरस के डेल्टा वैरियंट के खिलाफ असर दिखाने में कारगर साबित हो सकता है. ये वो वैरियंट है जो सबसे पहले भारत में पाया गया था. और जिसने इस साल भारत में तबाही मचाई थी.

    वैक्‍सीन कॉकटेल को तैयार करने में स्पुतनिक V के अहम रोल पर एक नज़र
    स्पुतनिक V पहली कोविड वैक्सीन कॉकटेल है जिसे गामालेया सेंटर ने अप्रैल 2020 में तैयार किया था. इसमें दोनों बूस्ट शॉट्स विषमता लिए हुए होते हैं. जिन्हें दो अलग-अलग एडिनोवायरल वैक्टर Ad5 और Ad26 पर तैयार किया जाता है. यानी वैक्सीन के एक शॉट में अगर एडिनोवायरल वेक्टर Ad5 का इस्तेमाल हो रहा है तो दूसरे यानी बूस्टर डोज़ में कैरियर के तौर पर दूसरा एडिनोवायरल वेक्टर Ad26 का इस्तेमाल होता है.

    इसके अलावा, 2019 में गामालेया सेंटर ने मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम कोरोना वायरस (मर्स –कोव) के खिलाफ वैक्सीन तैयार की थी. यानी जब कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू भी नहीं हुआ था उससे पहले ही ये वैक्सीन तैयार की जा चुकी थी, जो वास्तव में एक वैक्सीन कॉकटेल था.

    ये भी पढ़ें: कोरोनाः WHO-AIIMS के सर्वे में दावा, तीसरी लहर का बच्चों पर नहीं होगा ज्यादा प्रकोप

    ये भी पढ़ें: डॉक्टरों ने बच्चे को घोषित कर दिया था मृत, मां पुकारती रही, चलने लगीं मासूम की सांसें

    विषमता लिए हुए बूस्टर स्पुतनिक V को लेकर अध्ययन बताता है कि इसका असर बेहतरीन है. यह तरीका कोरोना वायरस के खिलाफ एक धारदार हथियार की तरह अपनी पहचान बना सकता है जिससे वायरस के म्यूटेशन से जुड़े खतरों को रोकने में कारगर होगा. स्पुतनिक V पहला वैक्सीन निर्माता था जिसने 23 नवबंर 2020 को वैक्सीन के संयुक्त क्लीनिकल ट्रायल का प्रस्ताव रखा था. जिसे जल्दी ही दूसरे निर्माताओं ने स्वीकार किया और इस तरीके पर काम शुरू कर दिया.

    वैक्सीन निर्माताओं का कहना है कि हम शुरू से ही मानते आए हैं कि वैक्सीन कॉकटेल ही भविष्य में कारगर तरीका हो सकता है. हमने सभी वैक्सीन निर्माताओं को प्रस्ताव दिया है कि कोविड म्यूटेशन के खिलाफ कॉकटेल में हमारा शॉट इस्तेमाल करें. इससे पहले नवबंर 2020 में ही हमने विषमता लिए बूस्टर के फायदे के बारे में जानकारी दी थी. जिसके बारे में अब लोगों को धीरे-धीरे समझ में आ रहा है.

    खैर स्पुतनिक का ये कॉकटेल कितना काम का साबित होता है ये तो भविष्य में पता चलेगा लेकिन इस वक्त ये कहा जा सकता है कि कोरोना के खात्म से जुड़ी हर खबर अच्छी खबर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.