अपना शहर चुनें

States

COVID-19 Vaccination: भारत में कोरोना के खिलाफ महाअभियान पर दुनिया भर से लगा बधाइयों का तांता

भूटान के प्रधानमंत्री ने दी पीएम मोदी को बधाई. (File Pic)
भूटान के प्रधानमंत्री ने दी पीएम मोदी को बधाई. (File Pic)

Covid 19 Vaccination in India: पीएम मोदी ने देश के वैज्ञानिकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को इसका धन्‍यवाद दिया है. उन्होंने साथ ही कहा है कि इन लोगों ने कोरोना से जंग में निर्णायक भूमिका निभाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2021, 11:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत में शनिवार को शुरू हुए दुनिया के सबसे बड़े कोरोना टीकाकरण अभियान (Covid 19 Vaccination India) पर पूरे विश्‍व की नजरें हैं. इस टीकाकरण अभियान को लेकर अब भारत के लिए बधाइयों का तांता लग गया है. श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (Mahinda rajapaksa) और भूटान के प्रधानमंत्री लोते सेरिंग (Lotay tshering) ने पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को इस अभियान के लिए शुभकामनाएं दी हैं. वहीं पीएम मोदी ने देश के वैज्ञानिकों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को इसका धन्‍यवाद दिया है. साथ ही कहा है कि इन लोगों ने कोरोना से जंग में निर्णायक भूमिका निभाई है.

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने पीएम मोदी को बधाई देते हुए ट्वीट किया, 'पीएम नरेंद्र मोदी और भारत सरकार को कोविड 19 टीकाकरण की शुरुआत के रूप में बेहद अहम कदम उठाने के लिए बधाई. हम अब इस जानलेवा महामारी के खात्‍मे को देखने की शुरुआत कर रहे हैं.'


वहीं भूटान के प्रधानमंत्री लोते सेरिंग ने कहा, 'मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों को कोविड 19 टीकाकरण की शुरुआत के लिए बधाई देना चाहता हूं. हमें आशा है कि इस महामारी से हमें जो भी पीड़ा हुई है वो खत्‍म हो जाएगी.'



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिंदा राजपक्षे को ट्वीट कर धन्‍यवाद दिया. उन्‍होंने कहा, 'धन्‍यवाद महिंदा राजपक्षे. हमारे वैज्ञानिकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स ने कोरोना महामारी से निर्णायक जंग के लिए कठोर परिश्रम किया है. स्‍वस्‍थ्‍य और बीमारी मुक्‍त दुनिया के लिए वैक्‍सीन का तेजी से विकास और उसकी लॉन्चिंग हमारे संयुक्‍त प्रयास में एक मील का पत्‍थर है.'

इसके साथ ही पीएम मोदी ने भूटान के प्रधानमंत्री लोते सेरिंग को भी धन्‍यवाद दिया. उन्‍होंने कहा, 'धन्‍यवाद, जिस वैक्‍सीन का पहले कम समय में विकास नामुमकिन माना जा रहा था, वही अब हमारे वैज्ञानिकों और डॉक्‍टरों की कोशिश से सच में बदल गया है. उन्‍हें इसके लिए धन्‍यवाद.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज