• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कश्मीर घाटी में 45वें दिन भी कर्फ्यू जारी

कश्मीर घाटी में 45वें दिन भी कर्फ्यू जारी

फोटो - getty images

फोटो - getty images

श्रीनगर में आज भी कर्फ्यू जारी है। यहां पर आंसूगैस के एक गोले की चपेट में आकर रविवार को एक किशोर की मौत हो गई थी।

  • Share this:
    श्रीनगर। श्रीनगर में आज भी कर्फ्यू जारी है। यहां पर आंसूगैस के एक गोले की चपेट में आकर रविवार को एक किशोर की मौत हो गई थी। हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद भड़की हिंसा के चलते लागू किए गए प्रतिबंधों और हड़ताल के कारण घाटी में आज 45 वें दिन भी जनजीवन प्रभावित हुआ है। पूरे श्रीनगर जिले के साथ अनंतनाग शहर में भी कर्फ्यू जारी है।

    एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मध्य कश्मीर के बडगाम जिले के खानसाहिब शहर में भी एहतियाती तौर पर कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने बताया कि हालात में सुधार को देखते हुये पंपोर से कर्फ्यू हटा लिया गया है। हालांकि, अधिकारी ने बताया कि दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत शहर समेत घाटी में जहां भी कर्फ्यू नहीं है, उन स्थानों पर चार या अधिक लोगों के एकत्र होने पर पाबंदी है। उन्होंने बताया कि ऐसा कानून और व्यवस्था को कायम रखने के लिए किया गया है।

    शहर के प्रमुख इलाके में आंसू गैस का गोले लगने से कल इरफान वानी नाम के एक युवक की मौत हो गयी थी। अधिकारी ने बताया कि यहां की ग्रीष्मकालीन राजधानी के मध्य में स्थित लाल चौक के इर्द-गिर्द 14 अगस्त को लागू किए गए प्रतिबंधों में आज ढील दी गयी। उन्होंने बताया कि जिन लोगों के पास कर्फ्यू पास है केवल उन्हीं को लाल चौक के इर्द-गिर्द जाने की इजाजत है।

    हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के खिलाफ घाटी में प्रदर्शनों का सिलसिला शुरू हो गया था। इन प्रदर्शनों के दौरान आम नागरिकों की मौत के विरोध में आंदोलन की अगुवाई कर रहे अलगाववादियों ने आज लोगों से तहसील मुख्यालयों की ओर रैली निकालने का आह्वान किया। नौ जुलाई को शुरू हुये संघर्ष में दो पुलिसकर्मी सहित 65 लोगों की मौत हो चुकी है और कई हजार लोग घायल हैं।

    इस बीच कर्फ्यू, प्रतिबंधों और अलगाववादियों के बंद के आह्वान के कारण घाटी में लगातार 45 वें दिन जनजीवन प्रभावित हुआ है। दुकानें, निजी कार्यालय, शिक्षण संस्थान और पेट्रोल पंप बंद रहे जबकि सार्वजनिक वाहन सड़कों पर नहीं उतरे। सरकारी कार्यालयों और बैंकों में भी उपस्थिति कम रही। पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा लगातार निलंबित है। यहां पर प्रीपेड मोबाइल पर आउटगोइंग सुविधा बंद है। सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक, और मोहम्मद यासिन मलिक की अगुवाई वाली अलगाववादी गुट ने आंदोलन को 25 अगस्त तक बढ़ा दिया है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज