• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Kashmir Update: बुरहान पर बवाल, यात्रियों के लंगरों पर भीड़ का धावा

Kashmir Update: बुरहान पर बवाल, यात्रियों के लंगरों पर भीड़ का धावा

कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान की मौत के बाद घाटी में जारी हिंसा में अबतक 22 की मौत हो चुकी है।

  • Share this:
    श्रीनगर। कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान की मौत के बाद घाटी में हालात काबू में है, लेकिन तनाव अब भी बरकरार है। प्रदर्शनकारियों और पुलिस की हुई मुठभेड़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर 23 हो गई है। वहीं प्ररदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़पों में 200 से ज्यादा जवान जख्मी हुए हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज चल रहा है, जबकि अनंतनाग में एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया है। वहीं दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने, तो श्रीनगर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बैठक कर घाटी के हालात का जायजा लिया। जानिए ताजा अपडेट-

    -अनंतनाग जिले के बटकूट इलाके में अमरनाथ यात्रियों के लिए लगाए गए लंगरों को गुस्साईं भीड़ ने नुकसान पहुंचाया।

    -अनंतनाग जिले के अश्मकाम इलाके में जम्मू कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी के घर पर भीड़ ने हमला किया। हमले के दौरान घर को काफी नुक्सान पहुंचाया गया। अधिकारी घर पर मौजूद नहीं था।

    -तीन दिन बाद जम्मू से अमरनाथ यात्रियो का जत्था रवाना किया गया। रात को बनिहाल में ये जत्था रुकेगा,  कड़ी सुरक्षा  के साथ  बनिहाल  से  बालटल रवाना होगा।

    पाकिस्तान दे रहा बढ़ावा

    कश्मीर के अलग-अलग इलाकों में अब भी कर्फ्यू जारी है। कई जगहों पर सुरक्षाकर्मियों पर भीड़ ने हमला किया है। बडगाम  में सीआरपीएफ के ट्रनिंग और स्टोरेज फैसिलिटी को लूटने की कोशिश की गई, जिसे सीआरपीएफ ने नाकाम किया। इस दौरान भीड़ की तरफ से गोली भी चलाई गई, जिसके बाद सीआरपीएफ ने भी जवाबी कार्रवाई की है। इस बीच पाकिस्तान की तरफ से इस हिंसा को हवा देने की लगातार कोशिशें जारी है।

    पाकिस्तान सरकार आतंकियों के समर्थन में बयान जारी कर रही है, तो लश्कर लगातार घुसपैठ कराने और हिंसा को भड़काने की कोशिश में लगा है। लेकिन, सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह से चौकन्नी है। अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए इंटरनेट और ऐसी दूसरी सेवाओं पर रोक जारी है।

    वहीं अमरनाथ यात्रा पर आज तीसरे दिन भी ब्रेक लगा हुआ है। हजारों यात्री अलग- अलग जगह पर रुके हैं, जिनमें सबसे ज्यादा 4500 लोग गुजरात के हैं। गुजरात सरकार लगातार इन श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के संपर्क में है। गुजरात सरकार ने केंद्र और सेना से अनुरोध किया है कि वो गुजरात के श्रद्धांलुओं को पहलगाम और बालटाल से जम्मू पहुचाएं। गुजरात सरकार अपना एक विशेष दल जम्मू कश्मीर भेज रही है। इससे पहले बालटाल और पहलगाम में फंसे हुए करीब 15000 श्रद्धालुओं को प्रशासन ने सुरक्षित श्रीनगर तक पहुंचाया। वहीं तीन दिन से फंसे हुए यात्रियों ने मांग की है कि सरकार उनकी सुरक्षा और अमरनाथ दर्शन  का इंतजाम करे।

    कश्मीर के हालात की गूंज पूरे देश में सुनाई दे रही है। दिल्ली के सियासी गलियारों में भी इस मुद्दे पर पारा चढ़ता जा रहा है। जेडीयू नेता शरद यादव ने कहा है कि वो कश्मीर के मामला को संसद में उठाएंगे। कश्मीर के हालात पर हम चिंतित हैं। तो वहीं जम्मू-कश्मीर में बीजेपी नेता हिना भट्ट ने कहा कि घाटी में हालात तनावपूर्ण जरूर हैं, उन्होंने कहा कि जहां-जहां हालात सुधर रहे हैं वहां फंसे हुए श्रद्धालुओं को निकाला गया।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज