सत्ता हथियाने की आशंका के चलते हमने भंग की विधानसभा: सत्यपाल मलिक

बयान में कहा गया है कि राज्यपाल ने चार अहम कारणों से विधानसभा भंग करने का निर्णय लिया...

News18Hindi
Updated: November 22, 2018, 8:51 AM IST
सत्ता हथियाने की आशंका के चलते हमने भंग की विधानसभा: सत्यपाल मलिक
गवर्नर सत्यपाल मलिक
News18Hindi
Updated: November 22, 2018, 8:51 AM IST
जम्मू-कश्मीर में बुधवार की शाम गवर्नर सत्यपाल मलिक ने विधानसभा को भंग कर दिया. अब किसी भी पार्टी को सरकार बनाने का मौका नहीं मिलेगा. राज्य में अब नए सिरे से चुनाव कराए जाएंगे. राज्यपाल के इस फैसले से विपक्षी पार्टियों में भारी नाराज़गी है. कई नेताओं ने गवर्नर के इस फैसले पर सवाल उठाए हैं. राज भवन ने देर रात एक बयान जारी कर इस पर राज्यपाल का रुख साफ किया है. बयान में कहा गया है कि राज्यपाल ने चार अहम कारणों से विधानसभा भंग करने का निर्णय लिया...

पहली वजह- स्थाई सरकार बनना असंभव

अलग-अलग विचारधाराओं वाली राजनीतिक पार्टियों के एक साथ आने से स्थाई सरकार बनना असंभव है. इनमें से कुछ पार्टियां ऐसी थी जो विधानसभा भंग करने की मांग भी करती थीं. इसके अलावा पिछले कुछ साल का अनुभव ये बताता है कि खंडित जनादेश से स्थाई सरकार बनाना संभव नहीं है. ऐसी पार्टियों के साथ आने का एक ही मकसद होता है सत्ता को हथियाना न कि एक जिम्मेदार सरकार बनना.

दूसरी वजह- खरीद फरोख्त

ऐसी रिपोर्ट मिल रही थी कि विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए राजनीतिक पार्टियां हॉर्स ट्रेडिंग (खरीद फरोख्त) करने वाली थी. ऐसी गतिविधियां लोकतंत्र के लिए हानिकारक हैं और राजनीतिक प्रक्रिया को दूषित करती है.

तीसरी वजह- सरकार चलने पर संदेह

जब भी इस तरह की सरकार बनती है, बहुमत के लिए अलग-अलग दावें किए जाते हैं. ऐसी व्यवस्था की सरकार के ज्यादा दिन चलने पर संदेह जताया जाता है.
Loading...

चौथी वजह- सुरक्षा के हालात

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के नाजुक हालात है. यहां सुरक्षा बलों के लिए स्थायी और दोस्ताना माहौल की जरूरत है, जो आतंकरोधी अभियानों को अंजाम दे रहे हैं और हालात पर नियंत्रण पाने में लगातार सफल हो रहे हैं.

राजभवन की ओर से जारी बयान में कहा गया, ''राज्यपाल ने फैसला किया है कि ऐसे हालात में विधानसभा भंग करना ही सबसे अच्छा विकल्प है, ताकि राज्य को स्थायित्व और सुरक्षा प्रदान किया जा सके. ऐसे में जरूरत इस बात कि है कि स्पष्ट बहुमत के साथ उचित प्रक्रिया से सरकार बनवाने के लिए सही समय पर चुनाव करवाए जा सकें.'

ये भी पढ़ें:-

J&K: BJP-PDP के रास्ते अलग होने से लेकर विधानसभा भंग होने तक, पढ़ें क्या-क्या हुआ
राजभवन का फैक्स मशीन हुआ खराब! मुफ्ती बोलीं- अजीब है, अब्दुल्ला बोले- नए मशीन की जरूरत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2018, 2:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...