दोबारा इस्तेमाल किए जा सकेंगे N-95 और PPE KIT, इस कंपनी ने बनाया खास सिस्टम

डीएसटी ने कहा कि इससे पीपीई किट और अधिक किफायती हो जाएगी.

विज्ञान और प्रौद्योगिकी (डीएसटी) विभाग ने कहा कि ‘वज्र कवच’ नाम की इस प्रणाली से पीपीई, मेडिकल और गैर-मेडिकल किट को पुन: उपयोग करने लायक बनाकर महामारी से लड़ने की लागत कम करने में मदद मिलेगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. मुंबई की स्टार्टअप कंपनी इंद्रा वाटर ने एन95 (N95 mask) और पीपीई किट (PPE Kit) को संक्रमण से मुक्त करने के लिए एक प्रणाली विकसित की है जिसे महाराष्ट्र और तेलंगाना के अनेक सरकारी अस्पतालों में उपयोग में लाया जा रहा है. विज्ञान और प्रौद्योगिकी (डीएसटी) विभाग ने कहा कि ‘वज्र कवच’ नाम की इस प्रणाली से पीपीई, मेडिकल और गैर-मेडिकल किट को पुन: उपयोग करने लायक बनाकर महामारी से लड़ने की लागत कम करने में मदद मिलेगी. इससे कोविड से संबंधित अत्यधिक कचरा उत्पन्न होने से भी रोका जा सकेगा और इस तरह पर्यावरण को स्वच्छ रखने में भी मदद मिलेगी.

    डीएसटी ने कहा कि इससे पीपीई किट और अधिक किफायती हो जाएगी. विभाग ने कहा कि इस उत्पाद में पीपीई किट में से विषाणुओं, जीवाणुओं आदि को 99.9 प्रतिशत प्रभाव के साथ निष्क्रिय करने के लिए उन्नत ऑक्सिडेशन, कोरोना डिस्चार्ज तथा यूवी-सी प्रकाश स्पेक्ट्रम के साथ अनेक स्तर की संक्रमण-मुक्ति की प्रक्रिया का इस्तेमाल किया गया है.

    ये भी पढ़ें- केंद्र नए डिजिटल नियमों को लेकर सख्‍त! सरकार ने सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स से कहा-तुरंत दें अनुपालन की स्‍टेटस रिपोर्ट

    कोरोना मामलों में आई कमी
    तेलंगाना में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामलों में तेजी से कमी आई है. राज्य में 25 मई को उपचाराधीन मरीजों की संख्या करीब 38 हजार रह गई. दस दिन पहले इनकी संख्या 51 हजार थी. तेलंगाना में पिछले 24 घंटों में 3,762 नए कोरोना के ​​​​मामले सामने आए हैं.

    3,816 रिकवरी और 20 मौतें दर्ज की गई. राज्य में 38,632 एक्टिव केस हैं. अब तक 5 लाख 22 हजार 82 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं. वहीं, राज्य में अब तक कोरोना से 3 हजार 189 लोगों की मौत हो गई है.