Home /News /nation /

कब वापस किया जाएगा जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा, केंद्र ने संसद में दी जानकारी

कब वापस किया जाएगा जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा, केंद्र ने संसद में दी जानकारी

केंद्र ने जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिए जाने पर जानकारी दी है. (सांकेतिक फोटो)

केंद्र ने जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा दिए जाने पर जानकारी दी है. (सांकेतिक फोटो)

Jammu-Kashmir Statehood: देश के गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा के एक सवाल के जवाब में ये लिखित जानकारी दी है. तन्खा ने पूछा था कि क्या जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को राज्य का दर्जा दिए जाने की कोई रूपरेखा है? तन्खा ने यह भी पूछा था कि इन दोनों केंद्रशासित प्रदेशों में चुनाव कब तक होंगे?

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने बुधवार को संसद में कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) को सही वक्त आने पर राज्य का दर्जा दे दिया जाएगा. देश के गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai) ने कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा (Vivek Tankha) के एक सवाल के जवाब में ये लिखित जानकारी दी है. तन्खा ने पूछा था कि क्या जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को राज्य का दर्जा दिए जाने की कोई रूपरेखा है? तन्खा ने यह भी पूछा था कि इन दोनों केंद्रशासित प्रदेशों में चुनाव कब तक होंगे?

    बीते अक्टूबर महीने में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने श्रीनगर में कहा था कि परिसीमन की प्रक्रिया और फिर चुनाव के बाद जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा (Jammu-Kashmir Statehood) दिया जा सकता है. इससे पहले नेशनल कांफ्रेंस चीफ फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि सरकार ने परिसीमन को लेकर अपना वादा तोड़ा है. उन्होंने कहा था-सरकार ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर परिसीमन कमीशन का वक्त 6 मार्च के बाद नहीं बढ़ाया जाएगा.

    फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र पर लगाए थे आरोप
    अब्दुल्ला ने यह भी कहा था कि केंद्र सरकार को पहले राज्य का दर्जा वापस करना चाहिए फिर उसके बाद चुनाव कराने चाहिए. बीते महीने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्य का दर्जा छीने जाने पर कहा था कि ये एक मुख्यमंत्री को विधायक बनाने देने जैसा कदम है.

    दो साल में हुए विकास कार्यों की उपराज्यपाल ने दी थी जानकारी
    बता दें कि हाल में न्यूज़18 इंडिया के चौपाल कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने दो साल में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी थी. सिन्हा ने कहा था- ‘जम्मू-कश्मीर में दो साल में 25 हजार प्रोजेक्ट पूरे हो चुके हैं. मेरिट और पारदर्शिता के आधार पर जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नौकरी मिल रही है. किसानों की आमदनी के मामले में जम्मू-कश्मीर के किसान पांचवें नंबर पर हैं, जिनकी महीने की आमदनी 18-19 हजार रुपये है.

    सिन्हा ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में 25 नए नेशनल हाइवे के प्रोजेक्ट पर काम शुरू हुआ है. जम्मू और श्रीनगर एयरपोर्ट से उड़ानों की संख्या में बहुत बढ़ोतरी हुई है. स्वास्थ्य क्षेत्र में जहां पहले तीन मेडिकल कॉलेज थे, वहां सात नए मेडिकल कॉलेज और सात नए नर्सिंग कॉलेज खुले हैं.’

    Tags: Article 370, Jammu and kashmir

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर