SC/ST आयोग के चेयरमैन बोले- सवर्णों का नहीं था ये आंदोलन, शोषण रोकने के लिए है एक्ट

बीजेपी सांसद और एससी-एसटी आयोग के चेयरमेन रामशंकर कठेरिया ने गुरुवार को हुए सवर्णों के आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

नासिर हुसैन
Updated: September 18, 2018, 10:48 AM IST
SC/ST आयोग के चेयरमैन बोले- सवर्णों का नहीं था ये आंदोलन, शोषण रोकने के लिए है एक्ट
फाइल फोटो- सांसद रामशंकर कठेरिया.
नासिर हुसैन
नासिर हुसैन
Updated: September 18, 2018, 10:48 AM IST
बीजेपी सांसद और एससी-एसटी आयोग के चेयरमेन रामशंकर कठेरिया ने गुरुवार को हुए सवर्णों के आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिए हैं. उन्होंने इसे राजनीति से प्रेरित बताया है. न्यूज18 हिन्दी से खास बातचीत में उन्होंने बताया कि ये आंदोलन सवर्णों का नहीं था.

भारत बंद के दौरान कई जगह ट्रेन रोकी गईं, सड़क जाम की, तोड़फोड़ और आगजनी की गई इस सवाल पर उनका कहना था कि इस तरह का कोई भी आंदोलन लोकतंत्र के खिलाफ है. अगर किसी की अपनी कोई बात है तो लोकतंत्र में उसे कहने के लिए एक व्यवस्था है. किसी को भी तोड़फोड़ का सहारा नहीं लेना चाहिए.

एससी-एसटी एक्ट के खिलाफ सवर्णों में नाराजगी पर उनका कहना है कि अगर कहीं एससी-एसटी एक्ट का गलत इस्तेमाल होता है तो उसके लिए वहां का संबंधित अधिकारी दोषी है. गुरुवार को भारत बंद के दौरान मीडिया में दिए बयानों में आयोग के चेयरमेन ने कहा है कि एससी-एसटी एक्ट जो पहले था वही आज भी है. इसमें कोई संशोधन नहीं हुआ है. उनका कहना है यह कानून शोषण को रोकने और न्याय के लिए है.

गौरतलब रहे कि राहत देते हुए कोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट में कुछ संशोधन किए थे. लेकिन हाल ही में केन्द्र सरकार ने एक बार फिर से उस एक्ट को ज्यों का त्यों लागू कर दिया है. इसी के विरोध में 6 दिसम्बर को सवर्णों के विभन्न संगठनों ने शांतीपूर्ण भारत बंद बुलाया था.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर