Home /News /nation /

प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के इस्तेमाल पर सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- राज्य तुरंत लागू करें पाबंदी

प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के इस्तेमाल पर सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- राज्य तुरंत लागू करें पाबंदी

सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के उत्पादन और इस्तेमाल पर पाबंदी लगाई हुई है. (File Photo)

सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के उत्पादन और इस्तेमाल पर पाबंदी लगाई हुई है. (File Photo)

Cracker Ban: दिवाली का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अदालत किसी एक समुदाय के खिलाफ नहीं है. प्रदूषण का मामला आम लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा है. और त्योहार के नाम पर पटाखों की इजाजत नहीं दी जा सकती. सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि पटाखों पर पूरी तरह पाबंदी नहीं है. यानी लोग ग्रीन पटाखे इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन फिर भी प्रतिबंधित पटाखे बाजार में मिल रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के इस्तेमाल पर नाराजगी जाहिर की और कहा कि सभी राज्यों को प्रतिबंधित पटाखों पर लगी पाबंदी को लागू करना होगा. शीर्ष अदालत ने कहा कि ऐसे पटाखे बेचने वालों के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए जा सकते हैं. दिवाली से पहले सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि अदालत किसी समुदाय के खिलाफ नहीं है. लेकिन त्योहार के नाम पर किसी को भी लोगों की जान से खेलने की इजाजत नहीं दी जा सकती.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा की सभी राज्यों को प्रतिबंधित पटाखों पर लगी पाबंदी को लागू करना होगा. अदालत ने कहा कि बाजार में आज भी इस तरह के पटाखे मौजूद हैं. कोर्ट ने कहा कि ग्रीन पटाखों के नाम पर फर्जी स्टिकर लगाकर प्रतिबंधित पटाखे बेचे जा रहे हैं. ऐसे में जिम्मेदार लोगों को पकड़ने के लिए सीबीआई जांच के भी आदेश दिए जा सकते हैं.

ये भी पढे़ं- तेजी से गर्म हो रही धरती, भारत के लिए खतरनाक होगा आने वाला समय – शोध में दावा

कोर्ट ने लगाई फटकार
कोर्ट ने कहा कि 2018 में ही सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों पर पाबंदी लगा दी थी. इसके बावजूद राज्य सरकारों ने आदेश को ठीक से लागू नहीं किया. अदालत ने पूछा कि जब देश की सर्वोच्च अदालत का आदेश लागू नहीं होता तो दुनिया में क्या संदेश जाता है. दिवाली का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अदालत किसी एक समुदाय के खिलाफ नहीं है. प्रदूषण का मामला आम लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा है. और त्योहार के नाम पर पटाखों की इजाजत नहीं दी जा सकती.

सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि पटाखों पर पूरी तरह पाबंदी नहीं है. यानी लोग ग्रीन पटाखे इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन फिर भी प्रतिबंधित पटाखे बाजार में मिल रहे हैं.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों के उत्पादन और इस्तेमाल पर पाबंदी लगाई हुई है. सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को भी इस मामले में सुनवाई जारी रखेगा कि कैसे पाबंदी को पूरी तरह लागू कराया जाए.

Tags: Diwali, Firecrackers, Green Crackers, Supreme Court

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर