COVID-19 2nd Wave: इन राज्यों में एंट्री के लिए निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट है अनिवार्य

कुछ राज्‍यों में जाने के लिए दिखानी होगी कोरोना की आरटी पीसीआर रिपोर्ट. (Pic- AP)

कुछ राज्‍यों में जाने के लिए दिखानी होगी कोरोना की आरटी पीसीआर रिपोर्ट. (Pic- AP)

Coronavirus: यात्री लगातार एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में आ-जा रहे हैं. ऐसे में कुछ राज्‍यों ने अपने यहां आने वाले दूसरे राज्‍य के लोगों के लिए आरटी पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 12:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में इन दिनों कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) चरम पर है. हर राज्‍य में कोरोना की दूसरी लहर के कारण रोजाना बड़ी संख्‍या में नए मामले सामने आ रहे हैं. रविवार को जारी सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश में अब तक के सर्वाधिक 1.52 लाख नए कोरोना संक्रमण (Covid 19) के मामले सामने आए हैं. ऐसे में इसके खतरे को भांपा जा सकता है. लोगों से सोशल डिस्‍टेंसिंग और मास्‍क लगाने की अपील की जा रही है. इस बीच यात्री लगातार एक राज्‍य से दूसरे राज्‍य में जा रहे हैं. ऐसे में कुछ राज्‍यों ने अपने यहां आने वाले दूसरे राज्‍य के लोगों के लिए आरटी पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है.

केरल

महाराष्ट्र कोई केरल जाता है तो उसे आरटी पीसीआर रिपोर्ट दिखानी अनिवार्य है. यह सभी तरह की यात्रा के लिए लागू है. हवाई जहाज के यात्री को उड़ान से 72 घंटे पहले की होनी चाहिए.

Youtube Video

उत्तराखंड

उत्तराखंड सरकार ने महाराष्ट्र, गुजरात, केरल, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ से आने वाले सभी यात्रियों के लिए कोरोना टेस्‍ट जरूरी कर दिया है. इन राज्यों के यात्रियों को राज्य की सीमाओं, रेलवे स्टेशनों और देहरादून हवाईअड्डे पर उत्तराखंड में घुसने से पहले कोरोना टेस्‍ट से गुजरना पड़ेगा.

महाराष्ट्र



गुजरात, दिल्ली-एनसीआर, गोवा, राजस्थान और केरल से महाराष्ट्र आने वाले यात्रियों को निगेटिव आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट दिखानी अनिवार्य है. यह सभी यात्रियों पर लागू होगा. हवाई यात्रियों के लिए 72 घंटे के पहले की रिपोर्ट लाना जरूरी है.

राजस्थान

राजस्थान सरकार ने राज्य में प्रवेश करने वालों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया है.

मणिपुर

महाराष्ट्र और केरल से आने वाले यात्रियों के लिए मणिपुर में प्रवेश करने वाले यात्रियों के लिए कोरोना टेस्‍ट जरूरी है. यह 24 फरवरी से हवाई यात्रियों के लिए भी लागू है.

मध्य प्रदेश

महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश आने वाले लोगों के लिए थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी की गई है. राज्य के गृह विभाग ने 22 फरवरी 2021 के एक आदेश में भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, बैतूल, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, अलीराजपुर और महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिला में अधिकारियों को निगरानी रखने को कहा है.

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि हाई लोड वाले सात राज्यों में पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान और उत्तर प्रदेश शामिल हैं. यह सलाह दी जाती है कि 16 अप्रैल के बाद इन राज्यों से आने वाले लोगों को प्रदेश में आने के लिए 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी.

असम

राज्य में आने वाले सभी यात्रियों को स्वैब या एंटीजन टेस्ट कराना जरूरी है.

जम्मू-कश्मीर

श्रीनगर पहुंचने वाले सभी राज्यों के यात्रियों को एक नेगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्‍ट रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई है.

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में बाहर से आने वाले लोगों के लिए कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट जरूरी कर दी है. यह रिपोर्ट 72 घंटे पहले की होनी चाहिए. अधिकारियों से कहा गया है वे हवाई अड्डों पर यात्रियों के लिए विशेष रूप से दिल्ली और मुंबई से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना स्क्रीनिंग से संबंधित एसओपी का कड़ाई से पालन करें. महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेश से छत्तीसगढ़ आने वाले लोगों को रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंड और राज्यों के सीमा पर जांच की जानी चाहिए.



गुजरात

गुजरात में कोरोना की तेज रफ्तार को रोकने के लिए राज्य सरकार ने महाराष्ट्र सहित अन्य पड़ोसी राज्यों से आने वाले लोगों को सड़कों के माध्यम से जांच करने के लिए सीमा चौकियों की स्थापना की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज