होम /न्यूज /राष्ट्र /रेलवे स्टेशन की स्वच्छता रैकिंग में राजस्थान के जोधपुर और मारवाड़ स्टेशन में मारी बाजी

रेलवे स्टेशन की स्वच्छता रैकिंग में राजस्थान के जोधपुर और मारवाड़ स्टेशन में मारी बाजी

रिपोर्ट जारी करते रेल मंत्री पीयूष गोयल

रिपोर्ट जारी करते रेल मंत्री पीयूष गोयल

रेलमंत्री पीयूष गोयल द्वारा जारी अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार जोधपुर इस साल A-1 श्रेणी में पहले नंबर पर आया है, जबकि मारवाड ...अधिक पढ़ें

    रेलवे द्वारा ‘क्लीननेस सर्वे रिपोर्ट 2018’ जारी की गई है. इस रिपोर्ट में देश भर के स्टेशनों को स्वच्छता के आधार पर रैंकिंग दी जाती है. सोमवार को जारी ताजा रिपोर्ट में राजस्थान के जोधपुर और मारवाड़ रेलवे स्टेशन देश के सबसे स्वच्छ स्टेशन के रुप में उभरकर सामने आए हैं.

    रेलमंत्री पीयूष गोयल द्वारा जारी अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार जोधपुर इस साल A-1 श्रेणी में पहले नंबर पर आया है, जबकि मारवाड़ A श्रेणी में अव्वल रहा. दोनों ही उत्तर पश्चिम रेलवे के स्टेशन हैं.

    A-1 और A श्रेणी के स्टेशन यात्री राजस्व में 80 फीसद योगदान करते हैं. स्टेशनों को कमाई और यात्रियों की संख्या के आधार पर A-1 और A श्रेणी में रखा जाता है. रिपोर्ट जारी करते हुए गोयल ने स्टेशनों के बीच प्रतिस्पर्धा और बढ़ाने तथा स्वच्छता मापदंडों को बनाये रखने में परख सुनिश्चित करने के लिए इस अध्ययन को वार्षिक से अर्धवार्षिक बनाने का सुझाव दिया.


    बता दें कि दिल्ली के आनंद विहार को छोड़कर महानगरों का कोई दूसरा स्टेशन इस सूचि में टॉप-10 में स्थान हासिल नहीं कर पाया. आनंद विहार पांचवे नंबर पर आया है.

    नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पिछले साल की तरह इस बार भी 39 वें नंबर पर है. A-1 श्रेणी के स्टेशनों में जयपुर दूसरे नंबर पर और आंध्रप्रदेश का तिरुपति तीसरे नंबर पर है. पिछले साल A-1 श्रेणी स्टेशनों की रैकिंग में विशाखापत्तनम पहले नंबर पर था. इस साल वह 10 वें नंबर पर है.

    राजस्थान का फुलेरा स्टेशन A श्रेणी के स्टेशनों की सूची में दूसरे नंबर पर आया है जबकि वारंगल तीसरे नंबर पर है.

    जब गोयल से स्वच्छता के पैमाने पर सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले स्टेशन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने स्टेशन का नाम नहीं लिया लेकिन कहा कि उत्तर मध्य रेलवे 16 वें नंबर पर है जो इस बात का संकेत है कि वह स्वच्छता के मापदंड पर रेलवे के विभिन्न जोनों में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला जोन है.

    (भाषा के साथ इनपुट) 

    Tags: Piyush goyal, Swachhta Abhiyaan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें