मेट्रो में जेब काटती थीं महिलाएं, पुलिस ने पकड़ा तो निकले 60 लाख के हीरे

इन महिलाओं ने 28 जुलाई को ब्लू लाइन मेट्रो में सफर कर रहे एक हीरा व्यवसायी के बैग से ये हीरे चोरी किए थे.

भाषा
Updated: July 31, 2019, 11:50 AM IST
मेट्रो में जेब काटती थीं महिलाएं, पुलिस ने पकड़ा तो निकले 60 लाख के हीरे
यह मामला एक व्यक्ति द्वारा शिकायत दर्ज किए जाने के बाद सामने आया,
भाषा
Updated: July 31, 2019, 11:50 AM IST
मेट्रो में लोगों की जेब कटने की बढ़ती शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को सात महिलाओं को गिरफ्तार किया है. इन महिलाओं के पास से पुलिस को 60 लाख रुपये के हीरे बरामद हुए हैं. बताया जाता है कि इन महिलाओं ने 28 जुलाई को ब्लू लाइन मेट्रो में सफर कर रहे एक हीरा व्यवसायी के बैग से ये हीरे चोरी किए थे. पकड़ी गई महिलाओं में चिम्ना (22), अंजलि (23), रीता (40), आशा (40), पूनम (30), अनीता (35) और रेशमा (30), सभी आनंद परबत के निवासी हैं.

पुलिस के मुताबिक, गिरोह में शामिल महिलाएं और भीड़ वाली जगहों जैसे मेट्रो ट्रेन, भीड़ वाली बसें और गाड़ियों को निशाना बनाती थीं. वे पहले मेट्रो स्टेशनों पर खड़े भारी जेब वाले शख्स की पहचान करते हैं. इसके बाद, वे पीड़ित को घेर लेते हैं और अपनी नौकरी के बारे में बताते हैं.

उन्होंने कहा कि यह मामला एक व्यक्ति द्वारा शिकायत दर्ज किए जाने के बाद सामने आया, जो दिल्ली में व्यापार से जुड़े काम के लिए आया था. 28 जुलाई को वह करोल बाग से इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन की यात्रा कर रहा था. पुलिस ने कहा यात्रा के दौरान, उनका बैग जिसमें हीरे थे, चोरी हो गए.

यह भी पढ़ें:  NOIDA Metro Rail में 199 वैकेंसी, 25 से 35 हजार तक सैलरी

ऐसे हुई आरोपियों की पहचान

सीसीटीवी कैमरों की मदद से आरोपी महिलाओं की पहचान की गई. पुलिस उपायुक्त (मेट्रो) मोहम्मद अली ने कहा कि एक फुटेज में यह पाया गया कि वे 28 जुलाई को बाराखंभा मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन में सवार हुए. पीड़ित ने उसी कोच में भी यात्रा की थी जहां से संदिग्ध महिलाएं बाराखंभा मेट्रो स्टेशन पर उतरीं थीं. अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज को स्कैन करते हुए, एक संदिग्ध महिला को चोरी के हीरे की थैली के समान थैली ले जाते हुए देखा गया.

अधिकारी ने कहा कि अभियुक्तों को मंगलवार को शदीपुर मेट्रो स्टेशन के पास से पकड़ा गया था जिन्होंने 60 लाख रुपये के हीरे चुराए गए थे, जिसे वे बेचने की योजना बना रहे थे. आरोपी ट्रैफिक सिग्नल पर खिलौने बेचते थे और अपने दैनिक खर्चों को पूरा करने के लिए अपराध करते थे. पुलिस ने कहा कि वे आम तौर पर नकदी के लिए जेब काटते हैं और पीड़ितों के बैग से सोने के गहने चोरी करते हैं.
Loading...

यह भी पढ़ें:  DMRC ने लिखा- बलिदान देना होगा, सोशल मीडिया पर ट्वीट वायरल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 11:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...