• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • गीता का संदेश सुना भारत ने UN में कोरोना वैक्सीन पर दिया बड़ा संदेश

गीता का संदेश सुना भारत ने UN में कोरोना वैक्सीन पर दिया बड़ा संदेश

जयशंकर ने इस बात पर चिंता जताई कि टीका वितरण के संदर्भ में वैश्विक समन्वय का आभाव मतभेद और मुश्किलें पैदा करेगा तथा गरीब देश इससे सर्वाधिक प्रभावित होंगे.

जयशंकर ने इस बात पर चिंता जताई कि टीका वितरण के संदर्भ में वैश्विक समन्वय का आभाव मतभेद और मुश्किलें पैदा करेगा तथा गरीब देश इससे सर्वाधिक प्रभावित होंगे.

Made in India Covid Vaccine: जयशंकर ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय के विचार के लिए 9 बिंदुओं को रेखांकित किया ताकि दुनिया कोविड-19 महामारी को निर्णायक रूप से पीछे छोड़कर ज्यादा लचीली बनकर उभरे.

  • Share this:

    नई दिल्ली. करीब 25 देशों को मेड इन इंडिया कोविड-19 टीका (Made in India Covid vaccine) भेजने वाले भारत ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अनुरोध किया कि टीका राष्ट्रवाद बंद करें और सक्रिय तौर पर अंतरराष्ट्रीयवाद को बढ़ावा दें. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात को रेखांकित किया कि खुराकों की जमाखोरी से महामारी के खिलाफ लड़ाई और सामूहिक स्वास्थ्य सुरक्षा हासिल करने के वैश्विक प्रयास नाकाम हो जाएंगे.

    जयशंकर ने भगवद्गीता का जिक्र करते हुए कोरोना के खिलाफ लड़ने के भारत के संकल्प को बताया. उन्होंने कहा, ‘गीता में बताया गया है कि आप दूसरे के कल्याण को ध्यान में रखते हुए काम करें.’ उन्होंने कहा कि कोविड-19 की चुनौती से लड़ने के लिए भारत का रुख यही है. उन्होंने UNSC से आग्रह किया कि इस चुनौती से लड़ने के लिए मिलकर काम करे.

    9 बिंदुओं को किया गया रेखांकित
    जयशंकर ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय के विचार के लिए 9 बिंदुओं को रेखांकित किया ताकि दुनिया कोविड-19 महामारी को निर्णायक रूप से पीछे छोड़कर ज्यादा लचीली बनकर उभरे. कोविड-19 महामारी के संदर्भ में विरोधों के उन्मूलन पर संकल्प 2532 (2020) के कार्यान्वयन पर खुली बहस के दौरान जयशंकर ने कहा, टीका राष्ट्रवाद बंद कीजिए, इसके बजाय सक्रिय रूप से अंतरराष्ट्रीयवाद को बढ़ावा दीजिए. अतिरिक्त खुराकों को जमा करने से सामूहिक स्वास्थ्य सुरक्षा हासिल करने के हमारे प्रयास नाकाम होंगे.

    आईसीआरसी के अनुमान का किया उल्लेख
    इस दौरान जयशंकर ने कहा कि महामारी का फायदा उठाने के लिए गलत जानकारी पर आधारित अभियान चलाए जा रहे हैं, ऐसे कुटिल लक्ष्यों और गतिविधियों को निश्चित रूप से रोका जाना चाहिए. जयशंकर ने इस बात पर चिंता जताई कि टीका वितरण के संदर्भ में वैश्विक समन्वय का आभाव मतभेद और मुश्किलें पैदा करेगा तथा गरीब देश इससे सर्वाधिक प्रभावित होंगे. उन्होंने रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय मिति (आईसीआरसी) के अनुमान का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसे इलाकों में करीब छह करोड़ लोग जोखिम के दायरे में हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज