करतारपुर कॉरिडोर पर काम रोक देना चाहिए, पाकिस्तान के साथ न हो कोई बातचीत: स्वामी

भाषा
Updated: August 24, 2019, 11:37 PM IST
करतारपुर कॉरिडोर पर काम रोक देना चाहिए, पाकिस्तान के साथ न हो कोई बातचीत: स्वामी
सुब्रमण्यम स्वामी किसी भी मुद्दे पर पाकिस्तान (Pakistan) के साथ वार्ता नहीं की जानी चाहिए.

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने शनिवार को कहा कि देश के हित में करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) की परियोजना पर काम रोक देना चाहिए

  • Share this:
भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने शनिवार को कहा कि देश के हित में करतारपुर गलियारे (Kartarpur Corridor) की परियोजना पर काम रोक देना चाहिए और किसी भी मुद्दे पर पाकिस्तान (Pakistan) के साथ वार्ता नहीं की जानी चाहिए.

स्वामी ने एक संगोष्ठी से इतर पत्रकारों से कहा, ‘‘मेरे विचार से देश के हित में (करतारपुर गलियारे पर) काम आगे नहीं बढ़ना चाहिए. जो भी काम (परियोजना पर) हुआ है, उसे वहीं रोक देना चाहिए.’’

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ किसी भी मुद्दे पर वार्ता नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश को किसी भी वार्ता के लिए करतारपुर गलियारा परियोजना सहित कोई बहाना नहीं दिया जाना चाहिए.

सिख समुदाय पर स्वामी ने दिया ये जवाब

जब उनसे पूछा गया कि करतारपुर गलियारा परियोजना रोके जाने से क्या सिखों (Sikhs) की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचेंगी तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं सिख समुदाय की भावनाओं को अच्छी तरह समझता हूं और मैंने हमेशा सिखों का समर्थन किया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘सिखों को यह समझना चाहिए कि पाकिस्तान के इरादे नेक नहीं हैं.’’

भारत-पाक के बीच जारी है तनाव
बता दें, जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के भारत सरकार के कदम से दोनों देशों के बीच तनाव कायम है. पाकिस्तान भारत के इस कदम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उछालने की कोशिश कर रहा है. इतना ही नहीं पाकिस्तान ने भारत-पाक के बीच चलते वाली ट्रेन, बस सेवा को निरस्त कर दिया है इतना ही नहीं वह भारत के साथ कारोबारी रिश्ते तोड़ने के साथ राजनयिक संबंधों को कम कर चुका है.
Loading...

पाकिस्तान ने दिया ये जवाब
हालांकि पाकिस्तान ने शुक्रवार को कहा कि भारत (India) के साथ तनाव के बावजूद वह करतारपुर गलियारा खोलने और बाबा गुरुनानक देव (Baba Gurunanak Dev) की 550वीं जयंती समारोह में शामिल होने आने वाले सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करने को तैयार है.

करतारपुर गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब (Darbar Sahib) को भारत के गुरुदासपुर (Gurdaspur) स्थित डेरा बाबा नानक (Dera Baba Nanak) को जोड़ेगा. भारतीय सिख श्रद्धालु बिना किसी वीजा के केवल परमिट के आधार पर करतारपुर साहिब का दर्शन कर सकेंगे जिसकी स्थापना 1522 में गुरु नानक देव जी ने की.

ये भी पढ़ें-
पाकिस्तान के रेलमंत्री की लंदन में पिटाई, भारत को दी थी धमकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 11:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...