लाइव टीवी

विदेश मंत्रालय से नहीं मिली अनुमति, अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से क्लाइमेट चेंज समिट को संबोधित करेंगे केजरीवाल

भाषा
Updated: October 11, 2019, 11:32 AM IST
विदेश मंत्रालय से नहीं मिली अनुमति, अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से क्लाइमेट चेंज समिट को संबोधित करेंगे केजरीवाल
अरविंद केजरीवाल को विदेश मंत्रालय से डेनमार्क जाने की अनुमति नहीं मिली थी. (फाइल फोटो)

डेनमार्क के कोपनहेगन में आयोजित इस कार्यक्रम में जाने के लिए अरविंद केजरीवाल को विदेश मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिली थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (New Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) को विदेश मंत्रालय (Ministry Of External Affairs- MEA) ने डेनमार्क (Denmark) में आयोजित C-40 क्लाइमेट चेंज समिट (C-40 Climate Change Summit) में हिस्सा लेने की मंजूरी नहीं दी. बावजूद इसके दिल्ली सीएम इस कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे. केजरीवाल इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के द्वारा संबोधित करेंगे.

सरकार द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने सम्मेलन आयोजकों के आग्रह को स्वीकार कर लिया है कि वह ‘ब्रीद डीपली- सिटी सॉल्यूशंस फॉर क्लीन एयर’ के सत्र को वीडियो कॉन्फ्रेंस से संबोधित करेंगे. बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री शुक्रवार को दोपहर 12 बजे दुनिया के छह बड़े महानगरों के महापौर के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे.

Loading...



विदेश मंत्रालय ने नहीं दी थी अनुमति
विदेश मंत्रालय ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को यात्रा पर जाने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था. बयान में कहा गया है, ‘मुख्यमंत्री शुक्रवार को सी-40 जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित करेंगे.’

डेनमार्क के कोपनहेगन में हो रहा सम्मेलन
केंद्र सरकार ने डेनमार्क में जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन में केजरीवाल के भाग लेने की अनुमति देने से इनकार करने का बुधवार को बचाव करते हुए कहा कि इसमें ‘महापौर स्तर’ की भागीदारी हो रही है. लेकिन क्षुब्ध आप ने इसे ‘तुच्छ बहाना’ करार दिया और इसे दिल्ली की जनता का अपमान बताया. केजरीवाल मंगलवार को सी-40 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए डेनमार्क के कोपनहेगन के लिए रवाना होने वाले थे लेकिन वह नहीं जा सके.

ये भी पढ़ें-

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 11:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...