होम /न्यूज /राष्ट्र /

प्रदूषण की वजह बनी पराली से खाद बनाने पर फोकस, आनंद महिंद्रा ने ट्वीट में कही ये बात

प्रदूषण की वजह बनी पराली से खाद बनाने पर फोकस, आनंद महिंद्रा ने ट्वीट में कही ये बात

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के लिए पराली जलाना एक अहम कारक है. (फाइल फोटो)

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के लिए पराली जलाना एक अहम कारक है. (फाइल फोटो)

Stubble Burning Fertilizer: कहा जा रहा है कि पराली से बने खाद से जो फल और सब्जियां उगती है वह केमिकल फ्री होती हैं. साथ ही इनमें न्यूट्रिशन भी ज्यादा होता है. इन सब्जियों में विटामिन, न्यूट्रिशन्स ज्यादा होने की वजह से यह ना सिर्फ स्वास्थ्य के लिए अच्छी है, बल्कि स्वाद में भी बेहतर हैं. कई रिसर्च में यह सामने आया है कि केमिकल फर्टिलाइजर्स की बजाय केमिकल फ्री फर्टिलाइजर्स में उगी फल-सब्जियां सेहत के लिए अच्छी होती हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. प्रदूषण की चौतरफा मार के बीच दिल्ली इस प्रदूषण की अहम वजह से निपटने की तैयारी कर रही है. पराली जलाना (Stubble Burning) प्रदूषण की एक बड़ी वजह है. अब सरकार से लेकर देश के बड़े उद्योगपति भी पराली की दिक्कत से निपटने पर काम कर रहे हैं. साथ ही पराली का ऐसा समाधान लेकर सामने आ रहे हैं जिससे किसानों को भी फायदा हो.

इसी के मद्देनजर आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने अर्बन फॉर्म्स कंपनी के बारे में ट्वीट किया है. इसमें कहा गया है कि पराली दिक्कत नहीं, बल्कि किसानों के लिए एक कीमती कमोडिटी हो सकती है. इसे जलाने के बजाय इसकी खाद बन सकती है जो मिट्टी के लिए बहुत अच्छी होगी. अबर्न फार्म्स कंपनी ने दिल्ली के बाहरी इलाके पाला में रीजनरेटिव फार्मिंग का हब बनाया है.

‘पराली से बने खाद से जो फल और सब्जियां उगती हैं वह केमिकल फ्री होती हैं’
कहा जा रहा है कि पराली से बने खाद से जो फल और सब्जियां उगती हैं वह केमिकल फ्री होती हैं. साथ ही इनमें न्यूट्रिशन भी ज्यादा होता है. इन सब्जियों में विटामिन, न्यूट्रिशन्स ज्यादा होने की वजह से यह ना सिर्फ स्वास्थ्य के लिए अच्छी है, बल्कि स्वाद में भी बेहतर हैं. कई रिसर्च में यह सामने आया है कि केमिकल फर्टिलाइजर्स की बजाय केमिकल फ्री फर्टिलाइजर्स में उगी फल-सब्जियां सेहत के लिए अच्छी होती हैं.

दिल्ली के पाला में किसानों को ट्रेनिंग और कोचिंग भी दी जा रही है ताकि वह पराली को जलाएं नहीं और इससे खाद बनाएं और इस खाद का इस्तेमाल खेती में करें. किसानों को मार्केट रेट से ज्यादा में उनका उत्पाद खरीदने की गारंटी भी दी जा रही है.

Tags: Anand mahindra, Stubble Burning

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर